तमिलनाडु की CM जयललिता पर सुप्रीम कोर्ट खफा, कहा- लोकतंत्र की हत्या न करें

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। मानहानि कानून का दुरुपयोग करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता को फटकार लगाई है। कोर्ट ने कहा कि सरकार के कामकाज पर सवाल उठाने वाले लोगों पर आपराधिक मानहानि का केस दर्ज कराकर जयललिता इस कानून का गलत इस्तेमाल कर रही हैं।

jayalalithaa

सुप्रीम कोर्ट ने जयललिता को कहा, 'यह नहीं होना चाहिए। आप मानहानि केस का इस्तेमाल करके लोकतंत्र की हत्या नहीं कर सकती हैं।' कोर्ट ने जुलाई में भी AIADMK सुप्रीमो को इसी मुद्दे पर फटकार लगाई थी।

पढ़ें: 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' अभियान की ब्रांड एंबेसडर बनीं साक्षी

MDMK नेता ने दी थी याचिका
सुप्रीम कोर्ट ने कहा, 'कामकाज पर सवाल उठाने वालों के खिलाफ मानहानि का केस दर्ज कराने के बजाय राज्य सरकार को अच्छे शासन पर फोकस करना चाहिए।' कोर्ट MDMK प्रमुख ए. विजयकांत की याचिका पर सुनवाई कर रहा है, जिसमें कोर्ट से मानहानि के मुकदमे को खारिज करने की अपील की गई है।

देश की सर्वोच्च अदालत ने कहा कि जिस तरह तमिलनाडु सरकार कानून का गलत इस्तेमाल कर रही है, वैसा कोई और सरकार नहीं करती।

पढ़ें: हिंदुओं की ही नहीं, मुस्लिमों की भी मां है गाय: शंकराचार्य

पिछली सुनवाई में भी दी थी चेतावनी
बता दें कि जुलाई महीने में भी जस्टिस दीपक मिश्रा और जस्टिस आरएफ नरीमन ने मामले की सुनवाई के दौरान कानून का गलत इस्तेमाल न करने की चेतावनी दी थी। कोर्ट ने पिछली सुनवाई में MDMK नेता और उनकी पत्नी के खिलाफ जारी गैर जमानती वारंट पर भी रोक लगा दी थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Supreme court slams Tamilnadu CM Jayalalithaa on defamation case and says public figure must face criticism. Can't use defamation case to throttle democracy.
Please Wait while comments are loading...