अगले आदेश तक तमिलनाडु को मिलता रहे 2000 क्यूसेक पानी: SC

कमेटी ने 40 पेज की रिपोर्ट में लिखा कि दोनों राज्यों में पानी की कमी की वजह से किसानों का हाल बेहाल है और उन्हें उचित मुआवजा दिया जाना चाहिए।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को कर्नाटक सरकार को निर्देश दिया है कि अगला आदेश मिलने तक तमिलनाडु को 2000 क्यूसेक पानी देना जारी रखा जाए। साथ ही यह भी कहा कि दोनों राज्य शांति और सद्भाव बनाए रखें।

पढ़ें: मुंबई में जिस्मफरोशी के सबसे बड़े रैकेट का भंडाफोड़, ये है इनसाइड स्टोरी

Supreme Court

पढ़ें: सेल्फी लेने के चक्कर में 17वीं मंजिल से गिरी लड़की, दर्दनाक मौत

सोमवार को हाई-लेवल पैनल ने सुझाव दिया था कि कावेरी जल विवाद को सुलझाने के लिए सालों से चली रही वाटर एप्लिकेशन टेक्नीक को खत्म किया जाना चाहिए। दोनों राज्यों में पानी की कमी है, इसकी वजह से बेरोजगारी बढ़ रही है और लोग आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं।

पढ़ें: 25 साल की टीचर को 16 साल के छात्र से हुआ इश्क, संबंध बनाए तो हुई गिरफ्तार

सुप्रीम कोर्ट ने मामले को सुलझाने के लिए सुपरवाइजरी कमेटी का गठन किया था। कमेटी को राज्यों की जमीनी हकीकत पर गौर करके अपनी रिपोर्ट सौंपनी थी। कमेटी ने 40 पेज की रिपोर्ट में लिखा कि दोनों राज्यों में पानी की कमी की वजह से किसानों का हाल बेहाल है और उन्हें उचित मुआवजा दिया जाना चाहिए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
supreme court directs karnataka to keep releasing 2000 cusecs water to tamil nadu.
Please Wait while comments are loading...