अरुण जेटली का पलटवार, यूपीए शासन में हुए भ्रष्‍टाचार पर कांग्रेस ने क्‍या किया

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। देश में विमुद्रीकरण के फैसले के बाद जहां लोगों को खाली एटीएम मिल रहे हैं तो वहीं पक्ष और विपक्ष इस मुद्दे पर जमकर राजनीति करते नजर आ रहे हैं।

arun jaitley

मंगलवार को पहले प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करते हुए पूर्व वित्‍त मंत्री पी. चिंदबरम ने कहा कि कैशलेस का सपना पूरा नहीं होने जा रहा है। तो इसका जवाब देते हुए वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस को लपेटते हुए कहा कि कांग्रेस ने कभी भी कालेधन को खत्‍म करने की कोशिश ही नहीं की थी।

ये भी पढ़ें : 18,000 से कम सैलरी पाने वाले कामगारों को अब नए तरीके से होगा भुगतान

अरुण जेटली ने सीधे तौर पर कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि यूपीए सरकार के दोनों कार्यकाल में जमकर भ्रष्‍टाचार हुआ और कांग्रेस ने इसको दूर करने की कोशिश नहीं की। पर अब कांग्रेस को नोटबंदी से परेशानी हो रही है।

वित्त मंत्री ने अरुण जेटली ने विमुद्रीकरण के फैसले से होने वाले फायदे गिनाए और कांग्रेस पर पलटवार किया। जेटली ने कहा कि सरकार का जोर इस बात पर है कि जल्‍द ही लोगों की समस्‍याओं को दूर किया जाए।

ये भी पढ़ें : फ्लेक्‍सी फेयर स्‍कीम में रेलवे ने किया बदलाव, जानिए कितना सस्‍ता होगा किराया?

जेटली ने दावा किया कि हर दिन रिजर्व बैंक की तरफ से बैंकिंग सिस्टम में उचित मात्रा में कैश डाला जा रहा है। इसके चलते लोगों पर से दबाव कम हो रहा है। उन्‍होंने उम्‍मीद जताते हुए कि कुछ दिनों में बाजार में पर्याप्‍त मात्रा में नए नोट आ जाएंगे जिससे लोगों की समस्‍या जल्‍द से जल्‍द खत्‍म हो जाएगी।

जेटली ने कहा कि विमुद्रीकरण के फैसले के फायदे देखने की जरुरत है। अभी तक जिस पैसे पर टैक्‍स नहीं दिया जाता था वो बैंकों के पास आ गया है। अब सरकार को इससे टैक्‍स मिलेगा। उन्‍होंने डिजिटल बैंकिंग को लेकर कहा कि आने वाले समय में कैशलेस ट्रांजेक्‍शन भी बहुत तेजी से होंगे। इससे लोगों का फायदा होगा। साथ ही होने वाली टैक्‍स चोरी भी रुक सकेगी।

ये भी पढ़ें :17 साल में बनकर तैयार हुई दुनिया की सबसे लंबी सुरंग, जानिए कहां है बनी?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
striking features of the two Congress led upa regimes, no steps against corruption or black money
Please Wait while comments are loading...