प्रधानमंत्री को दिया जा सकता है संसद की अवमानना का नोटिस

माकपा नेता सीताराम येचुरी ने कहा, पीएम ने संसद की अवमानना की है।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। माकपा नेता सीताराम येचुरी ने कहा है कि रैलियों में पीएम बोलते हैं लेकिन विपक्ष की तमाम मागों के बावजूद संसद में नहीं आते हैं तो ये संसद की अवमानना है।

sitaram

विपक्ष के प्रधानमंत्री को संसद में बुलाने की मांगों के बावजूद प्रधानमंत्री के संसद में ना आने पर आज विपक्ष ने बेहद कड़े शब्दों में पीएम मोदी की आलोचना की है। विपक्ष ने कहा है कि पीएम संसद की अवमानना कर रहे हैं।

नोटबंदी पर हंगामा, लोकसभा-राज्यसभा कल तक के लिए स्थगित

माकपा नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि अगर पीएम देशभर में रैलियां कर सकते हैं और नोटबंदी पर बात भी करते हैं तो संसद में अपनी बात क्यों नहीं रख सकते। येचुरी ने कहा कि पीएम के रवैये के कारण ही संसद नहीं चल पा रही है।

सीताराम ने कहा कि सभी विपक्षी पार्टियां प्रधानमंत्री को संसद का अवमानना का नोटिस दिया जाने परह विचार करेंगी। ऐसा पीएम के लगातार मांग के बावजूद संस ने आने के लिए किया जा सकता है।

संसदीय दल की बैठक में भावुक हुए पीएम मोदी, जानिए नोटबंदी पर क्‍या कहा

राज्यसभा में नेता विपक्ष गुलाम नबी आजाद ने कहा कि क्या साल में एक बार प्रधानमंत्री सदन के लिए वक्त नहीं निकाल सकते। उन्होंने कहा कि अगर पीएम के मन में सदन में सवालों का डर नहीं है तो फिर कौन सी वजह है कि वो सदन में नहीं आना चाहते।

कांग्रेस बोली, पीएम मोदी के संसद आने का वक्त नहीं, कंसर्ट संबोधित कर रहे

नोटबंदी पर विपक्ष मांग रहा है पीएम से जवाब

प्रधानमंत्री मोदी के 8 नवंबर को 1000 और 500 के नोटों पर बैन के ऐलान के बाद देशभर में फैली अव्यवस्था को लेकर विपक्ष पीएम से संसद में जवाब देने की मांग कर रहा है। इससे संसद भी नहीं चल पा रही है।

पीएम लगातार रैलियों में व्यस्त लेकिन वो इस सत्र में अभी संसद में नहीं गए हैं। इसको लेकर विपक्ष उनपर निशाना साध रहा है। नोटबैन के फैसले के बाद देशभर में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। नोटबैन से अब तक 75 ये ज्यादा मौतें हो चुकी हैं।

जेटली ने बताया, आखिर पहले क्यों नहीं बदले ATM

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
sitaram yechury ays Examining the possibility of moving contempt notice against PM
Please Wait while comments are loading...