...तो इन वजहों से शिवपाल को सौंपी गई प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। समाजवादी पार्टी में जारी अंदरूनी कलंह अब जगजाहिर हो गई है। सपा के प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी अब अखिलेश से छीनकर चाचा शिवपाल यादव के सैंप दी गई है। माना जा रहा है कि सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह ने फैसला शिवपाल यादव को शांत करने के लिया।

akhilesh yadav

अखिलेश के फैसलों से नाराज

दरअसल सोमवार को मुख्यमंत्री अखि‍लेश यादव ने मुलायम सिंह यादव और शि‍वपाल यादव के करीबी दो मंत्रियों को कैबिनेट से बाहर कर दिया। अखिलेश ने खनन मंत्री गायत्री प्रसाद और पंचायती राज मंत्री राजकिशोर को बाहर का रास्ता दिखाया। ये दोनों ही शिवपाल यादव के करीबी माने जाते है।

करीबियों को हटाए जाने से नाराज

फिर मंगलवार को उन्होंने चीफ सेक्रेटरी दीपक सिंघल को भी पद से हटा दिया। दीपक सिंघल शिवपाल के करीबियों में से एक है। ऐसे में इस फैसले को मंत्रियों और चीफ सेक्रेटरी के फैसले से जोड़कर देखा जा रहा है।

नजरअंदाज किए जाने का आरोप

आपको बता दें कि शिवपाल सिंह यादव सरकार और पार्टी के भीतर खुद को नजरअंदाज किए जाने का आरोप लगाते रहे हैं। कुछ दिनों पहले भी उन्होंने पार्टी में उनकी बात नहीं सुने जाने का आरोप लगाते हुए इस्तीफे की धमकी दी थी। ऐसे में बेटे अखिलेश के खिलाफ जाकर मुलायम ने शिवपाल यादव का साथ दिया था। मुलायम सिंह यादव ने इसकी पुष्टि करते हुए सार्वजनिक मंच से अखिलेश यादव को चेतावनी भी दी थी।

मुख्तार अंसारी को लेकर विवाद

वहीं माफिया से नेता बने मुख्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल का सपा में विलय के वक्त भी अखिलेश और चाचा शिवपाल में ठन गई थी। इस विलय के पीछे शिवपाल सिंह की भूमिका थी, लेकिन अखिलेश यादव की वजह से सपा को इस विलय को रद्द करना पड़ा था। ऐसे में शिवपाल लगातार पार्टी ने नाराज चल रहे थे। मुलायम जानते है कि पार्टी और कार्यकर्ताओं के बीच शिवपाल यादव की अच्छी पकड़ है। ऐसे में चुनाव से पूर्व उन्हें नाराज कर वो रिस्क नहीं उठाना चाहते है, इसलिए शिवपाल यादव को शांत करने के मकसद से उन्हें ये अहम जिम्मेदारी सौंपी गई है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The Samajwadi Party on Tuesday replaced Akhilesh Yadav with his uncle Shivpal Yadav as its new chief in Uttar Pradesh.
Please Wait while comments are loading...