मेरठ: शामली गैंगरेप पीड़िता को कोर्ट जाते वक्त मारीं गोलियां, हालत नाजुक

Subscribe to Oneindia Hindi

मेरठ। इसी साल जनवरी में मेरठ के शामली में एक गैंगरेप का मामला सामने आया था। इसमें सुल्‍ताना(बदला हुआ नाम) नामक पीड़िता को न्याया के लिए दर-दर की ठोकरें खानी पड़ीं। यहां ​तक कि उसे पुलिस से भी अपनी जान को खतरा होने की एफआईआर दर्ज कराने के लिए भी गुहार लगानी पड़ी।

सोना-चांदी रखते हैं आपकी सेहत का भी ख्याल इसलिए...

shamli Gang-rape survivor shot at on way to court for hearing of case

...तो इस वजह से वाराणसी में जय गुरुदेव के कार्यक्रम में मची थी भगदड़ !

जनवरी में हुआ था गैंगरेप

टाइम्स आॅफ इंडिया की खबर के मुताबिक, इस दहला देने वाली घटना के 10 महीने बाद शुक्रवार को गैंगरेप के चारों आरोपियाें समेत कुल 6 लोगों ने पीड़िता पर कोर्ट में सुनवाई के लिए जाते वक्त मुजफ्फरनगर में गोली चला दी। डॉक्टर्स ने शनिवार को बताया कि उसकी हालत नाजुक बनी हुई है।

वाराणसी भगदड़ : बाबा जयगुरुदेव कार्यक्रम से जुड़े हादसे में पांच पुलिस अधिकारी निलंबित

ग्रामीणों के आने तक भाग निकले आरोपी

सुल्ताना कोर्ट में सुनवाई के लिए अपने चचेरे भाई अली के साथ जा रही थी कि रास्ते में तकरीबन एक दर्जन बदमाशों ने उसका रास्ता रोक लिया। अली के मुताबिक, 'उन्होंने केस फाइल करने को लेकर पहले तो गालियां दीं और फिर उसके बाद ताबड़तोड़ गोलियां चलाना शुरू कर दिया। बंदूक की गोलियों की आवाज सुनकर स्थानीय ग्रामीण उन्हें बचाने के लिए मौके पर पहुंचे लेकिन तब तक गुंडे भाग चुके थे। इससे पहले सुल्ताना के बदन में तीन गोलियां उतर चुकी थीं।'

VIDEO: सुपरमैन की तरह फील्डिंग है इस क्रिकेट ऑलराउंडर की, देखिए

पुलिस कर रही है आरोपियों की तलाश

कैराना पुलिस स्टेशन अधिकारी एपी भारद्वाज की मानें तो उन सभी 6 आरोपियों की पुलिस तलाश कर रही है।

डॉक्‍टर रख रहे हैं पूरा ख्‍याल

वहीं सुल्ताना का उपचार कर रहे मेरठ के एलएलआरएम मेडिकल कॉलेज के इमरजेंसी मेडिकल आॅफिसर अजीत चौधरी ने कहा कि,'सुल्ताना को तीन गोलियां लगी हैं। इनमें से एक उसकी जांघ पर, एक कोहनी और एक उसके सिर के ऊपरी हिस्से में लगी है। उसकी हालत नाजुक बनी हुई है और हम उसकी पूरी देखभाल कर रहे हैं। हालांकि, गोलियों की वजह से उसके शरीर के किसी नाजुक हिस्से को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचा है। गोलियों को अभी निकाला नहीं गया है क्योंकि ऐसा करना खतरनाक हो सकता है।'

कश्मीर: हंदवाड़ा जिले में आतंकियों ने पुलिस वाहन पर की अंधाधुंध फायरिंग

जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है जंग

सुल्तान के पति के मुताबिक,'10 जनवरी 2016 को गांव के चार दबंगों ने सुल्ताना को घर में अकेला पाकर उसका गैंगरेप किया था। उन्होंने हमारी जिंदगी जहन्नुम बना दी है। पहले पुलिस ने हमारे लाख प्रयास के बाद भी केस नहीं दर्ज किया। आखिरकार, दबाव पड़ने पर एक महीने बाद केस दर्ज हुआ। उसके बाद से ही सुल्ताना को लगातार धमकियां मिल रही थीं। पुलिस ने हमारी सुरक्षा में कोई मदद नहीं की है। अब वह अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है।'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
gan rape survivor in meerut's shamli shooted by 6 men at her way to cout for hearing of the case.
Please Wait while comments are loading...