इंफोसिस मर्डर: महिला इंजीनियर ने घूरने से मना किया तो सिक्योरिटी गार्ड ने कर दी हत्या

Subscribe to Oneindia Hindi

पुणे। इंफोसिस की महिला इंजीनियर रासिला राजू की हत्या करने वाले सिक्योरिटी गार्ड भाबेन सैकिया ने दावा किया है कि वह वारदात के बाद काफी परेशान था और बिल्डिंग से कूदकर आत्महत्या करने वाला था। हालांकि बाद में उसने डरकर मन बदल लिया और अपनी मां को फोन करके घटना की जानकारी थी जिसने उसे सरेंडर करने को कहा था। हालांकि पुलिस ने उसके दावे को खारिज कर दिया है। पुलिस ने बताया कि हत्या से पहले आरोपी की रासिला से बहस हुई थी और नौकरी जाने के डर से उसने यह कदम उठाया।

इंफोसिस मर्डर: महिला इंजीनियर ने घूरने से मना किया तो सिक्योरिटी गार्ड ने कर दी हत्या

पुलिस के मुताबिक, आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह कॉन्फ्रेंस रूम के पास गया था, जहां रासिला काम कर रही थी। वह रासिला को देख रहा था तो उसने उसे घूरने से मना किया। इसी बात को लेकर दोनों में बहस होने लगी और रासिला ने उसकी शिकायत करने की चेतावनी दी। नौकरी खोने के डर से सैकिया ने पहले रासिला से माफी मांगते हुए शिकायत न करने की अपील की लेकिन जब वह अपनी बात पर अड़ी रही तो उसने पहले उसके चेहरे पर वार किया फिर कंप्यूटर वायर से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद वह चुपचाप अपनी ड्यूटी में लग गया और आम दिनों की तरह ही टाइम पूरा होने पर घर के लिए निकला। READ ALSO: सीसीटीवी फुटेज में दिखा इंफोसिस की महिला इंजीनियर का हत्यारा

26 साल के आरोपी ने दावा किया कि उसने पुलिस के आगे सरेंडर किया है और उसके पहले वह छत से कूदकर जान देने वाला था लेकिन पुलिस ने उसकी थ्योरी को सिरे ने नकार दिया। एसीपी वैशाली जाधव ने कहा, 'आरोपी अब सहानुभूति बटोरने के लिए ऐसा बयान दे रहा है। सच्चाई यह है कि वह हत्या के बाद चुपचाप अपनी जगह पर जाकर ड्यूटी करता रहा और समय पूरा होने पर शाम करीब साढ़े छह बजे घर के लिए निकला। वहां से वह असम फरार होने वाला था जब उसे मुंबई में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Security guard was staring at infosys engineer then killed under the fear of being fired.
Please Wait while comments are loading...