सीसीटीवी फुटेज में दिखा इंफोसिस की महिला इंजीनियर का हत्यारा, एक्सेस कार्ड से फंसा

Subscribe to Oneindia Hindi

पुणे। इंफोसिस इंजीनियर की हत्या के आरोप में पुलिस ने कंपनी के सिक्योरिटी गार्ड को गिरफ्तार कर लिया है। रविवार को 25 वर्षीय युवती को ऑफिस में कंप्यूटर की केबल से गला घोंटकर मारा गया था। पुलिस ने बिल्डिंग में सिक्योरिटी गार्ड के तौर पर काम करने वाले 26 वर्षीय युवक भाबेन सैकिया को मुंबई से गिरफ्तार कर लिया। सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर अरुण वाइकर ने बताया कि आरोपी को पुणे लाया जा रहा है। वह एक प्राइवेट सिक्योरिटी फर्म में नौकरी करता था जिससे इंफोसिस ने सिक्योरिटी ले रखी थी।

जरूरी प्रोजेक्ट के लिए छुट्टी के दिन भी गई थी ऑफिस

जरूरी प्रोजेक्ट के लिए छुट्टी के दिन भी गई थी ऑफिस

के. रासिला राजू नाम की युवती पुणे के हिंजेवाड़ी आईटी पार्क स्थित इंफोसिस के ऑफिस में बतौर इंजीनियर काम करती थी। इंफोसिस ने ट्वीट करके सोमवार को रासिला की हत्या पर अफसोस जताया। कंपनी ने लिखा, 'हम पुणे में हुई घटना से बेहद दुखी है और सदमे में हैं। इस दुख की घड़ी में हम अपनी सहकर्मी के परिवार के साथ हैं। हम उन्हें हर संभव मदद दिलाने के लिए प्रशासन के साथ काम कर रहे हैं।' पुलिस ने बताया कि जानकारी मिलने के बाद वह मामले में शुरुआत से ही पकड़ बनाए थी और सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद केस सुलझ गया। पुलिस ने बताया कि इंफोसिस से जानकारी मिली है कि रासिला की रविवार को छुट्टी पर थी लेकिन एक प्रोजेक्ट पर जरूरी काम के लिए वह रविवार को भी ऑफिस गई और कंपनी के बेंगलुरु ऑफिस में अपने सहकर्मियों के संपर्क में थी। READ ALSO: नमाज के वक्त कनाडा की एक मस्जिद में हमला, गोलीबारी में 5 लोगों की मौत

गले पर लिपटा था कंप्यूटर वायर, खून पर पड़ी थी लाश

गले पर लिपटा था कंप्यूटर वायर, खून पर पड़ी थी लाश

बेंगलुरु में बैठे सुपरवाइजर ने संपर्क करने की काफी कोशिशें की लेकिन जब बात नहीं हो पाई तो उन्होंने हिंजेवाड़ी ऑफिस में सिक्योरिटी गार्ड को जाकर देखने के लिए कहा। एसीपी वैशाली जाधव ने बताया, 'जब कंपनी के सिक्योरिटी गार्ड रासिला के वर्कस्टेशन पर आए तो उसे फर्श पर बेजान पाया। उसके गले पर कंप्यूटर वायर लपेटा हुआ था और काफी खून बिखरा था। गला घोंटने से पहले उसके चेहरे पर काफी चोट पहुंचाई गई थी।' परिवार की रिक्वेस्ट पर पुलिस ने रविवार को पोस्टमार्टम नहीं कराया। परिवार केरल में रहता है और घटना की जानकारी मिलते ही पुणे के लिए भागा। पुलिस ने कहा, 'रासिला के परिवार के लोगों के आने के बाद हम पोस्टमार्टम कराएंगे।' READ ALSO: इंटरनेट पर विराट कोहली को लेकर गलत जानकारी

एक्सेस कार्ड ने बताया हत्यारे का सुराग

एक्सेस कार्ड ने बताया हत्यारे का सुराग

एसीपी जाधव ने बताया कि रासिला रविवार दोपहर में तीन बजे ऑफिस पहुंची थी। रात में 10 बजे पुलिस को फोन पर उसकी हत्या की सूचना मिली। पुलिस को एक्सेस कार्ड से लेकर सीसीटीवी फुटेज की जांच करने में कुछ घंटों का वक्त लगा और आखिरकार सिक्योरिटी गार्ड का हत्या का शक पुख्ता हो गया। बेहद सुरक्षित माने जाने वाले कॉन्फ्रेंस रूम में सिर्फ चुनिंदा लोगों को जाने की अनुमति थी। एक्सेस कार्ड की वजह से आरोपी फंस गया। READ ALSO: पंजाब में रैली के बाद अरविंद केजरीवाल ने पूर्व आतंकी के घर बिताई रात

रोजाना की तरह ऑफिस से घर निकला

रोजाना की तरह ऑफिस से घर निकला

आरोपी साढ़े छह बजे अपनी ड्यूटी समाप्त होने पर रोजाना की तरह घर गया और वहां से मुंबई के लिए निकल गया। वह मुंबई से असम जाने वाला था। पुलिस ने उसका मोबाइल ट्रेस किया और नेटवर्क लोकेशन के आधार पर उसे रात में तीन बजे मुंबई में रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया। बीते दो महीनों में पुणे में यह ऐसी दूसरी हत्या है। दिसंबर में कैपजेमिनी कंपनी में काम करने वाली इंजीनियर अंतरा दास (23) की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई थी। वह ऑफिस से घर लौट रही थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Security guard arrested in Infosys techie k Rasila Raju murder in Pune office.
Please Wait while comments are loading...