सीएम जयललिता की सेहत पर सवाल, तमिलनाडु में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के वकील ने जयललिता की सेहत के बारे में स्पष्ट सूचना देने की अपील करते हुए तमिलनाडु में राष्ट्रपति शासन लगाने की अपील की है।

इसके लिए उन्होंने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को तीन पेज का एक पत्र लिखा है। शुक्रवार को डीएमके मुखिया करुणानिधि ने भी जयललिता की सेहत की खबर देने के लिए उनकी फोटो जारी करने की मांग की थी।

READ ALSO: हॉस्पिटल में जयललिता की हालत के बारे में क्या बोले करुणानिधि

jayalalitha

जयललिता की सेहत को लेकर उठ रहे हैं सवाल

सुप्रीम कोर्ट के वकील रेहान एस बेल ने राष्ट्रपति को लिखे पत्र में तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता की सेहत और राज्य के हालात पर गवर्नर से रिपोर्ट मांगने की अपनी अपील की है। राष्ट्रपति से इस मामले में हस्तक्षेप करने की अपील करते हुए उन्होंने धारा 365 लागू करने की मांग की है।

वकील ने कहा है कि एम्स में डॉक्टर्स के पैनल या किसी अन्य स्वतंत्र डॉक्टर से सीएम जयललिता की सेहत की जांच करवाई जाए। साथ ही, उनका कहना है कि राज्यपाल से इस मामले में रिपोर्ट मांगी जाए कि सीएम जयललिता अपने सांविधानिक दायित्व को निभाने में सक्षम हैं भी या नहीं।

अगर वह सांवैधानिक दायित्वों को निभाने में सक्षम नहीं हैं तो धारा 356 के तहत राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है।

'राज्य में राष्ट्रपति शासन नहीं लगाया जा सकता'

संविधान के विशेषज्ञों का कहना है कि फिलहाल जो स्थिति है उसमें तमिलनाडु में राष्ट्रपति शासन नहीं लगाया जा सकता क्योंकि राज्य में सांविधानिक मशीनरी अभी काम कर रही है।

राज्य सरकार अपने सांविधानिक दायित्वों को निभा रही है या नहीं, इसके लिए राष्ट्रपति, राज्यपाल से रिपोर्ट मांग सकते हैं। अगर राज्य में सांविधानिक मशीनरी फेल होने की रिपोर्ट गवर्नर दें तो ही राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है।

'हॉस्पिटल से काम कर रही हैं जयललिता'

एआईएडीएमके प्रवक्ता का कहना है कि हॉस्पिटल में जयललिता मुख्यमंत्री होने के दायित्व को निभा रही हैं। वे अधिकारियों से मिल रही हैं। कावेरी मुद्दे पर उन्होंने खुद ही लेटर ड्राफ्ट किया।

अपोलो अस्पताल में भर्ती हैं जयललिता

पिछले एक सप्ताह से तमिलनाडु की सीएम जयललिता अपोलो हॉस्पिटल में भर्ती हैं और उनकी सेहत को लेकर राज्य में तरह-तरह की अफवाहें फैल रही हैं।

इन अफवाहों पर विराम लगाने के लिए डीएमके मुखिया ने शुक्रवार को तमिलनाडु सरकार से हॉस्पिटल में भर्ती जयललिता की तस्वीर जारी करने की मांग की थी।

READ ALSO: आइडिया : 1 रुपए में अनलिमिटेड 4जी डेटा, इसमें भी है एक लोचा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Supreme Court advocated wrote a letter to president demanding the president rule in Tamil Nadu in the wake of health situation of Jayalalitha.
Please Wait while comments are loading...