सपा के झगड़े के 5 सवाल जिनके उत्तर मुलायम सिंह भी नहीं दे पाए

नेताजी राजनीति के रिंग में एक चुके हुए पहलवान की तरह नजर आए। एक चिट्ठी पढ़ी, जिसमें अपने गौरवशाली संघर्ष की बातें दोहराईं। नेताजी करीब आधे घंटे तक बोले लेकिन झगड़े के कई सवालों के जवाब नहीं दे पाए।

Written by: अखिलेश श्रीवास्‍तव
Subscribe to Oneindia Hindi

कई दिनों से चल रही सपा की किचकिच का पटाक्षेप होता नजर नहीं आ रहा है। उम्मीद थी, कि नेताजी आज की प्रेस कॉन्फ्रेंस में कुछ ऐसा कहेंगे जो इस झगड़े पर अब पानी डालने का काम करेगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद ही अखिलेश समर्थक फिर बवाल काटने लगे।
सपा में मचे घमासान पर मुलायम सिंह यादव के 10 बड़े बयान 

: Even party chief Mulayam Singh Yadav couldn't answer these 5 questions

उन्हें अगले चुनाव के लिए सीएम कैंडिडेट घोषित किए जाने की मांग करने लगे। नेताजी राजनीति के रिंग में एक चुके हुए पहलवान की तरह नजर आए। एक चिट्ठी पढ़ी, जिसमें अपने गौरवशाली संघर्ष की बातें दोहराईं। नेताजी करीब आधे घंटे तक बोले लेकिन झगड़े के कई सवालों के जवाब वो भी नहीं दे पाए।
कहानी में Twist: अमर सिंह नहीं आजम खां हैं अखिलेश-शिवपाल के झगड़े का कारण! 

जानिए उन सवालों को

1. एक तरफ मुलायम सिंह कह रहे हैं कि पार्टी और परिवार एक है लेकिन प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐसा दिखाई नहीं दिया। पहले कहा जा रहा था कि शिवपाल के साथ अखिलेश भी इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में मौजूद रहेंगे। लेकिन शिवपाल के साथ सार्वजनिक उपस्थिति से अखिलेश ने किनारा किया। इसका मुलायम सिंह यादव कुछ जवाब नहीं दे पाए।

2. उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी अगर चुनाव बाद बहुमत में आई तो क्या अखिलेश ही मुख्यमंत्री होंगे, इस पर मुलायम सिंह ने हामी नहीं भरी। इस सवाल को उन्होंने सपा और लोकतंत्र की परंपराओं के खिलाफ बताते हुए कहा कि चुने गए विधायक ही अपने नेता का चुनाव करेंगे।

3. शिवपाल समेत बर्खास्त किए गए चार मंत्री और जयाप्रदा की वापसी होगी या नहीं, इस पर मुलायम कुछ स्पष्ट नहीं कह पाए। उन्होंने कहा कि इन लोगों की वापसी होगी या नहीं, इस पर मुख्यमंत्री अखिलेश को ही फैसला करना है। क्योंकि ऐसा करना उनका विशेषाधिकार है।

4. अखिलेश समर्थकों की पार्टी में वापसी का सवाल भी अभी अनुत्तरित ही है। हो सकता है अखिलेश बर्खास्त किए गए मंत्रियों और जयाप्रदा की वापसी के ऐवज में अपने बर्खास्त समर्थकों की संगठन में वापसी चाहते हों लेकिन अखिलेश समर्थकों की संगठन में वापसी होगी या नहीं, इस पर मुलायम सिंह ने कुछ नहीं कहा।

5. एक तरफ अखिलेश गुट पार्टी के भीतर मचे बवाल के लिए अमर सिंह को जिम्मेदार ठहराते रहे हैं तो मुलायम सिंह ने भी माना कि कुछ बाहरी लोग हैं जो पार्टी के खिलाफ साजिश कर रहे हैं लेकिन ये कौन लोग हैं, इसका खुलासा मुलायम सिंह ने नहीं किया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Samjwadi Party row: Even party chief Mulayam Singh Yadav couldn't answer these 5 questions.
Please Wait while comments are loading...