दलित नहीं था हैदराबाद यूनिवर्सिटी का छात्र रोहित वेमुला, जांच कमेटी की रिपोर्ट में खुलासा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। हैदराबाद सेंट्रल यूनिवर्सिटी में सुसाइड करने वाले छात्र रोहित वेमुला की जाति को लेकर मचे घमासान पर विराम लगाते हुए मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) की ओर से गठित कमेटी ने अपनी रिपोर्ट दी है। मामले की जांच के लिए गठित की गई कमेटी ने कहा है कि रोहित वेमुला दलित नहीं था।

rohit vemula

यूजीसी को सौंपी गई रिपोर्ट में कमेटी ने कहा कि रोहित वेमुला अनुसूचित जाति (SC) कैटेगरी में नहीं था। कमेटी का गठन पूर्व मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने किया था। कमेटी को यह जिम्मेदारी सौंपी गई थी कि वे पता लगाएं कि किन परिस्थितियों में रोहित वेमुला ने आत्महत्या की है। कमेटी के प्रमुख इलाहाबाद कोर्ट के जज एके रूपनवाल थे।

इसलिए जरूरी है जाति का क्लियर होना

बता दें कि इसके पहले केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज ने भी रोहित वेमुला के दलित न होने की बात कही थी। इस मामले में रोहित वेमुला की जाति का स्पष्ट होना इसलिए ङी जरूरी है क्योंकि केंद्रीय मंत्री बंडारू दत्तात्रेय और हैदराबाद यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर अप्पा राव के खिलाफ इस मामले में एससी/एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज कराया गया है।

रिपोर्ट में रोहित वेमुला की आत्महत्या से जुड़ी परिस्थितियों और अन्य बातों को लेकर ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई है। सरकार रिपोर्ट जल्द सार्वजनिक कर सकती है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Rohith vemula was not a dalit says hrd ministry probe panel. Panal said that vemula was a OBC student.
Please Wait while comments are loading...