नोटबंदी पर फिर पलटा RBI, 5,000 रुपए पर आया यह नया नियम

नोटबंदी के बाद से जनता को उतनी दिक्कत तो नकदी की नहीं हुई होगी, जितना हर रोज नया नियम आने से हो रही होगी। RBI एक बार फिर नया नियम लाया है।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। पहले ही नोटंबदी के दर्द से कराह रही जनता पर हर रोज नए-नए नियम थोप दिए जा रहे हैं। भारतीय रिजर्व बैंक एक बार फिर बुधवार को अपने ही एक फैसले से पलट गया।

सोमवार (19 दिसंबर) को भारतीय रिजर्व बैंक ने एक सर्कुलर जारी किया था कि अब एक बार में 5,000 से ज्यादा के 500 और 1,000 रुपए की करेंसी नोट कुछ सवालों का जवाब दिए जाने के बाद ही जमा किया जा सकेगा।

कहा गया था कि 5,000 रुपए से ज्यादा की रकम कम से कम दो अधिकारियों की मौजूदगी में जमा कराया जाएगा। सर्कुलर में यह भी कहा गया था कि इस बात का जवाब भी मांगा जाएगा कि यह अब से पहले क्यों नहीं जमा कराया जा सका?

reservebankofindia

वहीं इस फैसले के बाद मंगलवार (20 दिसंबर) के दिन से देश भर की कई बैंक शाखाओं से खबर थी कि 5,000 रुपए से ज्यादा की रकम को स्वीकार नहीं किया जा रहा हैं।

पेटीएम ने खड़े किए हाथ तो ट्विटर पर लोगों ने जमकर साधा निशाना

लेकिन इन सब दिक्कतों को मद्देनजर रखते हुए आरबीआई ने बुधवार को फिर नया आदेश जारी करते हुए कहा कि एक बार 5,000 रुपए से ज्यादा जमा कराए जाने पर कोई पूछताछ नहीं होगी।

कहा गया है कि एक बार जमा करने की सीमा बनी रहेगी। इस मसले पर नए नोटिफिकेशन के अनुसार KYC खाताधारकों से सवाल नहीं किया जाएगा।

इससे पहले बैंक अधिकारियों ने कहा था...

इससे पहले मंगलवार को एक बड़े बैंक के अधिकारी ने आरबीआई के पुराने सर्कुलर पर कहा था कि आदेशों के मुताबिक ऐसी राशियां कम से कम 2 अधिकारियों की मौजूदगी में ही कराई जा सकती हैं।

नोटबंदी का सुझाव देने वाले को अर्थशास्त्र का प्राथमिक ज्ञान भी नहीं- चिदंबरम

कई बैंकों में वरिष्ठ अधिकारियों की ओर से मातहतों को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि वो राशि तभी जमा करें जब वो पूरी तरह से 'संतुष्ट' हों।

एक बैंक मैनेजर ने कहा था कि मैं कोई खतरा मोल नहीं लेना चाहता। कल को 5,000 रुपए से ज्यादा की राशि को स्वीकार करने पर मुझसे सवाल किया जाए या फिर कोई जांच की जाए।

यहां तो हैं सिर्फ 1 ही अधिकारी

कुछ बैंक के अधिकारियों ने कहा था कि कई बैंकों में अधिकारी सिर्फ 1 है ही, वो भी मैनेजर, बाकी सब क्लर्क स्टाफ है, तो यहां दो अधिकारी मौके पर मौजूद रहने का सवाल ही नहीं है।

सरकार और आरबीआई की ओर से इस तरह अपने पहले फैसले से मुकरने पर लोगों को भी कुछ समझ नहीं आ रहा था।

जानिए नोटबंदी के बाद कैसे इंडियन आर्मी और एयरफोर्स आए एक्‍शन में

दिल्ली के बुराड़ी स्थित बंगाली कॉलोनी के निवासी सुद्धोजित मित्र ने कहा था कि मैं जल्द ही अपने पैसे जमा करने का रास्ता खोजूंगा और बहुत जल्दी, ताकि ये कोई नया नियम ना लागू कर दें।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
RBI issues notification, withdraws Rs.5000 deposit restriction for KYC compliant accounts
Please Wait while comments are loading...