कंप्यूटर में घुसकर फिरौती मांगता है ये VIRUS, जानिए कैसे बचें इससे

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आपने कई तरह के वायरस के बारे में सुना होगा, लेकिन आज हम आपको बता रहे हैं एक ऐसे वायरस के बारे में जो आपके होश उड़ा देगा। ये ऐसा वायरस है जो आपके कंप्यूटर या मोबाइल में घुस जाता है और फिर आपकी जरूरी फाइलों पर कब्जा कर लेता है।

jio के बाद BSNL ने किया धमाका, देगा लाइफटाइम मुफ्त कॉलिंग

ये वायरस एक अपहरणकर्ता की तरह काम करता है और आपकी फाइलों को अपने कब्जे से छोड़ने के बदले फिरौती मांगता है। हालांकि, इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि फिरौती देने के बाद भी वह वायरस आपकी फाइलें आपको सौंपेगा या नहीं।

सबसे अधिक लोग शिकार हुए इस वायरस के

सबसे अधिक लोग शिकार हुए इस वायरस के

नॉर्टन के सिमेंटिक की तरफ से किए गए रिसर्च में दावा किया गया है कि यह वायरस अब तक का सबसे खतरनाक वायरस है, जिससे दुनिया भर के बहुत से लोगों को नुकसान पहुंचा है। इस वायरल का नाम रैनसमवेयर है।

Vodafone Flex: जानिए ऑल इन वन प्लान की 10 काम की बातें

रिसर्च में इस बात खुलासा हुआ है कि जनवरी 2015 से अप्रैल 2016 के बीच अब तक जितने लोग किसी भी तरह के वायरस का शिकार हुए हैं, उनमें रैनसमवेयर के शिकार होने वालों की संख्या करीब 57 फीसदी है।

किन-किन चीजों पर कब्जा करता है ये वायरस?

किन-किन चीजों पर कब्जा करता है ये वायरस?

रैनसम नाम का ये वायरस आपके फोन में या फिर आपके कंप्यूटर में मौजूद तस्वीरों, आधी-अधूरी लिखे उपन्यास, टैक्स रिटर्न की जानकारी, बैंकिंग रिकॉर्ड और ऐसे ही जरूरी दस्तावेजों पर हमला करता है।

जानिए क्‍यों किसी आतंकी हमले से पहले चेस्‍ट शेव करते हैं फिदायीन

कुछ मामलों में यह वायरस किसी कंपनी के सर्वर को भी अपने कब्जे में ले लेता है, जहां पर कंपनी की करोड़ों की जानकारी पड़ी होती है। ऐसी स्थिति में अपनी करोड़ों की जानकारी बचाने के लिए चंद हजार रुपए इस वायरस को देने ही पड़ जाते हैं। हालांकि, इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि यह वायरस पैसे मिलने के बाद आपकी फाइलों को कोई नुकसान नहीं पहुंचाएगा।

कितने पैसे मांगता है वायरस?

कितने पैसे मांगता है वायरस?

दुनिया भर में लोगों से मांगी जानी वाली औसत फिरौती में पिछले साल की तुलना में काफी बढ़ोत्तरी हुई है। इसके तहत मांगी गई रकम पिछले साल की तुलना में करीब दोगुनी हो गई है।

भारत V/s पाकिस्तान: पढ़ लीजिए किसमें कितना है दम?

पिछले साल 2015 में रैनसमवेयर वायरस ने लोगों के औसतन 19,670 रुपए मांगे थे, लेकिन 2016 में यह रकम दोगुनी से भी अधिक होकर 45,428 रुपए हो गई है।

कैसे बचें इस वायरस से?

कैसे बचें इस वायरस से?

इस वायरस को फैलाने वाले अक्सर लोगों के मोबाइल या कंप्यूटर में इंटरनेट का इस्तेमाल करके किसी पॉर्न वीडियो का लिंक भेजते हैं, जिस पर क्लिक करते ही मैसेज आता है कि आपका फोन लॉक हो चुका है। मैसेज में कहा गया होता है कि यह इसलिए लॉक हुआ है क्योंकि आपने चाइल्ड पोर्न वाली वीडियो देखी है।

धरती पर गिरनेवाला है चीन का अंतरिक्ष स्टेशन, कहां पर गिरेगा मलबा

वायरस फैलाने वाले इसके बाद किसी तरह का अपडेट करने की सलाह देता है और फिर आप इस वायरस का शिकार हो जाते हैं। अगर आप भी इस वायरस से बचना चाहते हैं तो ऐसे किसी भी लिंक पर क्लिक न करें जिसके बारे में आप पहले से नहीं जानते हों।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
ransomware virus effecting whole world
Please Wait while comments are loading...