सपा दंगल: वाराणसी में बोले अमर सिंह, 'अब छुट्टा सांड़, जहां हरा दिखेगा वहीं मुंह मारूंगा'

Subscribe to Oneindia Hindi

वाराणसी। आज एक बार फिर से अमर सिंह लोगों के बीच में चर्चा के केंद्र बने हुए हैं। बनारस के गड़वाघाट स्थित आश्रम में मलिकार बाबा की शोक सभा में पहुँचे अमर सिंह पहले मीडिया पर ही भड़के गए।

'चिट भी मेरी और पट भी'

उन्होंने कहा कि अगर मैं सपा रार पर कुछ कहता नहीं हूं तो मीडिया वाले चिल्लाने लगते हैं कि अमर सिंह मैदान छोड़कर, मुंह छुपा कर भाग गए और अगर कुछ कहता हूं तो फिर मेरी बातों के कई मतलब निकाले जाते हैं, यहां तो लोगों की चिट भी मेरी होती है और पट भी

अमर सिंह, शिवपाल और मुलायम सिंह को हटाना

हालांकि इसके बाद अमर सिंह वापस अपनी मुद्रा में आए और कहा कि जब मुलायम सिंह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे तो उन्होंने मुझे पार्टी का महासचिव बनाया था। अखिलेश के अधिवेशन में तीन एजंडे थे। अमर सिंह, शिवपाल और मुलायम सिंह को हटाना। चुनाव आयोग में मुख्यमंत्री होने के नाते समर्थन अखिलेश के पक्ष में संविधान और सत्ता की लड़ाई में सत्ता की जीत हुई।

पार्टी से निकाष्सन के बाद उन्होंने मुझे छुट्टा सांड बना दिया

अमर सिंह ने कहा कि पार्टी और मुलायम परिवार में उठे बवंडर का ठीकरा मुझ पर फोड़ा गया। लेकिन मैं यूपी की जनता से पूछना चाहता हूं कि बाप-बेटे की लड़ाई में मैं कहां हूं। अध्यक्ष पिता को सीएम बेटे ने पद से हटाया और पार्टी का अध्यक्ष बन गया। पार्टी से निकाष्सन के बाद उन्होंने मुझे छुट्टा सांड बना दिया है, जहां हरा दिखेगा वहीं मुंह मारुंगा।

मुझे अखिलेश के निष्कासन वापसी का इंतजार नहीं

फिर भी मुझे अखिलेश से कोई शिकायत नहीं क्योंकि वो मेरे नेताजी के बेटे हैं और इसलिए मुझे काफी चिंता हैं उनकी, मैं उनकी तारीफ इसलिए नहीं कर रहा कि मुझे पार्टी में वापसी चाहिए, मुझे जो लगता है वो मैंने कहा। नायक नहीं खलनायक है अमर सिंह जुल्मी बड़ा दुखदायक है। अभी मैं संयम होकर बोल रहा हूं और जब बोलूंगा तब लोग कहेंगे कि बोलता है।

रामगोपाल यादव मेरी हत्या कराना चाहते हैं

मैं तो रामगोपाल यादव के टारगेट पर हूं, आर्काइव देखकर इस बारे में पता लगाया जा सकता है। रामगोपाल ने बयान दिया यूपी में आएं सुरक्षित लौटकर जाएं। मैं आज यहां आया हूं, आश्रम में आया हूं। ये यादवों की पीठ है। मैं केंद्र सरकार का धन्यवाद देता हूं कि हमें इतनी सुरक्षा दी है कि मैं बनारस से वापस चला जाऊंगा। आपको बता दें कि अमर सिंह को हाल ही में जेड सुरक्षा दी गई है।

अमर सिंह ने पूछा, जो कल मुलायम के साथ दागी थे आज अखिलेश संग बेदागी कैसे हो गए?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Days after showering praise on Uttar Pradesh chief minister Akhilesh Yadav, expelled Samajwadi Party leader Amar Singh clarified that his honeyed words were not a plea for reinstatement to the party
Please Wait while comments are loading...