सरकारी बैंकों के कर्मचारियों को मिलती है ज्यादा सैलरी: रघुराम राजन

Subscribe to Oneindia Hindi

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने एक ऐसी बात कह दी है ​जिसके बाद सरकारी बैंकों के कर्मचारी बिफर सकते हैं। रघुराम राजन ने कहा कि सरकारी बैंकों में टॉप लेवल के अधिकारी को कम सैलरी मिलती है, वहीं निचले स्तर पर काम करने वाले कर्मचारियों की सैलरी ज्यादा होती है। राजन ने कहा कि टॉप लेवल के अधिकारियों की सैलरी बढ़ाई जानी चाहिए, ताकि टैलेंटेड लोग बैंक के टॉप लेवल के लिए आकर्षित हो सकें।

raghuram rajan

उन्होंने कहा कि पब्लिक सेक्टर बैंकों में टॉप लेवल अधिकारियों की भर्ती के लिए बोर्ड को सभी फैसले पूरी तरह से मुक्त होकर लेने चाहिए। उन्हें विभिन्न संस्थाओं को संतुष्ट करने की बाध्यता नहीं होनी चाहिए। वे बोले कि फिलहाल बहुत सी अथॉरिटीज पब्लिक सेक्टर बैंकों के प्रदर्शन पर ध्यान देते हैं, जिनमें पार्लियामेंट, डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंसिएल सर्विसेस, बैंक बोर्ड ब्यूरो, बोर्ड ऑफ द बैंक, विजिलेंस अथॉरिटीज भी शामिल हैं।

राजन का आलोचकों पर निशाना, बोले- नाम बदलकर कहते हैं थैंक्यू

राजन ने इसके अलावा लोन देने और वापस लेने के तरीकों पर भी बात कहीं। उन्होंने कहा कि बैंकों को ज्यादा इक्विटी की जरूरत है। ऐसे में जरूरत है कि बैंकों की स्ट्रक्चरिंग को भी मजबूत किया जाए। उन्होंने कहा कि समय की मांग के अनुसार हमें लोन के नियमों को और ज्यादा सख्त बनाने की जरूरत है। यह सिर्फ एक आर्थिक लक्ष्य नहीं बल्कि एक राजनीतिक लक्ष्य भी होना चाहिए।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
There is a need to tighten loan practices at public sector banks. It is not only an economic goal but also a political goal: RBI Governor
Please Wait while comments are loading...