जब घी पीने की जगह पीएम ने कुछ और पीने की बात कही तो भगवंत मान क्यों खड़े हुए?

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। बजट सत्र में मंगलवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव देने आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ ऐसा कह दिया जिससे आम आदमी पार्टी के सांसद भगवंत मान सीट से उठ गए। दरअसल, पीएम मोदी ने सदन में चार्वाक दर्शन का श्लोक सुनाया और उसे सांसद भगवंत मान से जोड़ दिया।

बजट सत्र: जब घी पीने की जगह पीएम ने कुछ और पीने की बात कही तो भगवंत मान क्यों खड़े हुए?

पीएम ने कहा- ' चार्वाक कहते थे - यावज्जीवेत्सुखं जीवेत् ऋणं कृत्वा घृतं पिबेत्, भस्मीभूतस्य देहस्य पुनरागमनं कुतः। जब तक जियो, मौज करो, चिंता किस बात की कर्ज करो और घी पियो।' 

पीएम ने आगे कहा कि ' उस जमाने में संस्कार थे, इसलिए घी कहा, भाई भगवंत मान नहीं और कुछ पीने का कहते।' पीएम मोदी के इतना कहते ही मान अपनी सीट से उठ खड़े हुए और कुछ कहने लगे।

बजट सत्र: जब घी पीने की जगह पीएम ने कुछ और पीने की बात कही तो भगवंत मान क्यों खड़े हुए?

हालांकि किसी और की ओर से यह जाने पर कि वे बैठ, जाएं, मान बैठ गए। इसके बाद पीएम ने कहा कि लेकिन उस समय ऋषियों ने वहां संस्कार थे, तो उन्होंने घी पीने की बात कही थी, शायद का आज का जमाना होता तो कुछ और पीने की चर्चा करते।' इससे पहले पीएम मोदी नोटबंदी के मुद्दे पर सदन में अपनी बात रख रहे थे।

ये भी पढ़ें: लोकसभा में PM के धांसू डॉयलॉग, हम कुत्तों वाली परंपरा से पले-बढ़े नहीं हैं

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Prime Minister Narendra Modi comments on MP bhagwant mann during reply to the motion of thanks on the president address
Please Wait while comments are loading...