प्रसून जोशी बने सेंसर बोर्ड के नए चीफ, जानिए इनकी पूरी शख्सियत

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। पहलाज निहलानी को सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है। शुक्रवार को उनके हटाया गया है, उनकी जगह मशहूर गीतकार प्रसून जोशी को सेंसर बोर्ड का चीफ बनाया गया है। अभिनेत्री विद्या बालन को सेंसर बोर्ड का सदस्य बनाया गया है। निहलानी अपने कार्यकाल में फिल्मों में कट और सर्टिफिकेट को लेकर लगातार फिल्म निर्माताओं के निशाने पर रहे हैं।

कौन हैं प्रसून जोशी

कौन हैं प्रसून जोशी

46 साल के प्रसून जोशी एक जाने-माने लेखक, पटकथा लेखक, गीतकार और विज्ञापन लेखक हैं। विज्ञापन की दुनिया में उनका खास नाम है और अन्तर्राष्ट्रीय विज्ञापन कंपनी 'मैकऐन इरिक्सन' में कार्यकारी अध्यक्ष हैं। उत्तराखंड के अल्मोड़ा के दन्या गांव में जोशी का जन्म हुआ, पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने साहित्य और फिल्म के क्षेत्र में कदम रखा।

ठंडा मतलब कोका कोला लिखने वाले प्रसून

ठंडा मतलब कोका कोला लिखने वाले प्रसून

प्रसून जोशी की पहचान एक कवि और गीतकार की तो है ही लेकिन जिस हुनर ने उनको बुलंदियों तक पहुंचाने में अहम किरदार निभाया है वो है विज्ञापन। उनके लिखे विज्ञापनों की पंचलाइन सालों पर लोगों की जुबान पर रही हैं। कोका कोला के लिए 'ठंडा मतलब कोका कोला' की पंचलाइन ने 2003 में उन्हें खास पहचान दी। क्लोरमिंट की पंचलाइन 'दोबारा मत पूछना' बेहद मशहूर हुई।

पद्मश्री से नवाजे जा चुके प्रसून

पद्मश्री से नवाजे जा चुके प्रसून

प्रसून जोशी ने 'दिल्ली 6', 'तारे जमीं पर', 'रंग दे बसंती', 'हम तुम' 'भाग मिल्खा भाग' और 'फना' जैसी फिल्मों के लिए गीत लिखे हैं। उन्होंने एलबम के लिए भी लिखे और उनके लिखे गीत काफी लोकप्रिय रहे हैं। कई सुपरहिट गाने लिखे हैं। गीतों के लिए उन्हें तीन बार फिल्मफेयर का अवार्ड मिल चुका है। तो वहीं दो बार नेशनल अवार्ड भी उनको मिला है। 2015 में उनको पद्मश्री से नवाजा जा चुका है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Pahlaj Nihalani sacked Prasoon Joshi CBFC new chief
Please Wait while comments are loading...