जल्‍लीकट्टू पर बैन हटाने के लिए पीएम आवास के बाहर धरने पर बैठे अंबुमणि रामदास

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

चेन्‍नई। तमिलनाडु में बेकाबू बैलों पर काबू पाने के पारंपरिक खेल जल्‍लीकट्टू पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा लगाए गए प्रतिबंध को हटाने के लिए चौथे दिन भी प्रदर्शन जारी है। हजारों लोगों सड़कों पर उतर गए हैं। चेन्‍नई के मरीन बीच पर हजारों छात्र कल से जमा है। मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम की अपील पर भी लोगों ने प्रदर्शन खत्म नहीं किया है। आज वह इस मसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिले और उनसे अध्यादेश लाने की मांग की।

जल्‍लीकट्टू पर बैन हटाने के लिए पीएम आवास के बाहर धरने पर बैठे अंबुमणि रामदास
 

इस मुलाकात के बाद पन्नीरसेल्वम ने कहा कि हमने पीएम को पत्र सौंपा जिसमें जल्लीकट्टू पर बैन हटाने और केंद्र से इस पर अध्यादेश लाने की मांग की गई है। इस बीच जल्लीकट्टू के मुद्दे पर पीएमके सांसद अंबुमणि रामदास ने भी पीएम मोदी से मुलाकात की है। मुलाकात के बाद वह पीएम आवास के बाहर 7 लोक कल्याण मार्ग पर धरने पर बैठ गए हैं। यह भी पढ़ें-आखिर तमिलनाडु में 'जल्लिकट्टू महोत्सव' पर क्यों मचा है बवाल?

साल 2014 में लगा था जल्‍लीकट्टू पर बैन

साल 2014 में सुप्रीम कोर्ट ने जल्लीकट्टू पर प्रतिबंध लगा दिया था। इसके बाद पिछले साल केंद्र सरकार ने अध्यादेश जारी कर इस पारंपरिक खेल को इजाजत दे दी थी लेकिन सरकार के इस अध्यादेश को फिर सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई जिस पर अंतिम फैसला आना बाकी है।

इसी कारण अभी तक केंद्र सरकार के किसी मंत्री ने इस पर प्रतिक्रिया नहीं दी है। हालांकि सुप्रीम कोर्ट में इस मामले पर अंतिम निर्णय आना अभी बाकी है। इस बीच चेन्नई में पिछले चार दिनों से हजारों लोग सड़कों पर उतर कर केंद्र सरकार से जल्लीकट्टू पर लगा प्रतिबंध खत्म करने की मांग कर रहे हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
PMK MP Anbumani Ramadoss sits in support of Jallikattu outside Prime Minister residence at 7 Lok Kalyan Marg in New Delhi.
Please Wait while comments are loading...