पुराने नोट बैन होने से पुणे के इस जिले में अब चोरी नहीं होती

Subscribe to Oneindia Hindi

पुणे। जबसे 500 और 1000 रुपए के नोट पर प्रतिबंध लगाया गया है पुणे में पिंपेरी चिंचवाड़ में एक भी घर के दरवाजे को तोड़ने की घटना सामने नहीं आई है। पुलिस के पास पिछले पांच दिनों में एक भी शिकायत नहीं पहुंची है।

theft

क्‍या होता है डिमॉनेटाइजेशन और भारत से पहले किन देशों में हुआ ऐसा फैसला

हर रोज होती थी 5-6 चोरी की घटनाएं
पिछले कुछ महीनों के आंकड़ों पर नजर डालें तो इस जिले में कुल 39 पुलिस स्टेशन हैं और यहां हर दिन 5-6 घरों के दरवाजें तोड़ने की शिकायत दर्ज होती है। लेकिन पिछले पांच दिन के आंकड़े यह बताते हैं कि इस तरह की कोई भी शिकायत दर्ज नहीं की गई है।

7 नवंबर के बाद नहीं हुई एक भी चोरी

घर में चोरी का जो आखिरी मामला दर्ज हुआ था वह भारतीय विद्यापीठ पुलिस स्टेशन पर हुआ था और वह 7 नवंबर को दर्ज हुआ था। घटना के पीड़ित जाधव जोकि अंबेगांव पथार के रहने वाले हैं ने शिकायत दर्ज कराई थी कि कुछ अज्ञात लोगों ने उनके घर को तोड़कर उनके गहने और 75000 रुपए नगदी चुरा ली।

वहीं इस मामले पर ज्वाइंट कमिश्नर सुनील रामानंद का कहना है कि इस मामले में वारंट जारी कर दिया गया है, आखिर क्यों इस इलाके में इतनी चोरियां होती हैं ।

पुलिस ने बढ़ाई पेट्रोलिंग 
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने रात्रि में पेट्रोलिंग बढ़ा दी है और अपराधियों की चेकिंग के लिए बड़ा अभियान चलाया जा रहा है। प्रधानमंत्री मोदी की पुणे के दौरे को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ाया गया है।

चोरों के सामने भी है मुश्किल

वहीं अधिकारी का कहना है कि जो लोग घरों में चोरी करते हैं वह इस बात को लेकर भी चिंतित होंगे कि जो पैसा वह चुराते हैं उसे वह तुरंत निपटाना चाहते हैं। लेकिन मौजूदा समय में यह मुमकिन नहीं है, ऐसे में यह एक बड़ी वजह हो सकती है कि चोरी की घटनाएं कम हुई हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
PM Modi decision of demonetization has stopped the theft in Pune's district. No case has been registered in last 6 days
Please Wait while comments are loading...