राम किशन को शहीद का दर्जा देने पर दिल्ली सरकार के खिलाफ याचिका

Subscribe to Oneindia Hindi

दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट में दिल्ली सरकार के खिलाफ एक जनहित याचिका दायर की गई है। यह याचिका वन रैंक वन पेंशन के तहत अपनी मांगों को लेकर हाल ही में आत्महत्या करने वाले राम किशन ग्रेवाल को शहीद कहे जाने के लिए दायर की गई है।

ram kishan

जंतर-मंतर पर दिया था धरना

वन रैंक वन पेंशन को लेकर दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरना दे रहे एक भूतपूर्व सैनिक राम किशन ग्रेवाल ने कुछ दिन पहले आत्महत्या कर ली थी। अपने सुसाइड नोट में ग्रेवाल ने लिखा था कि वह सैनिकों के लिए एक बड़ा कदम उठा रहे हैं।

आपको बता दें कि राम किशन ग्रेवाल हरियाणा के भिवानी जिले में स्थिति बुमला गांव के रहने वाले थे। राम किशन के बेटे ने बताया कि उन्होंने आत्महत्या करने से पहले बताया कि सरकार वन रैंक वन पेंशन को लेकर उनकी मांगें पूरी नहीं कर रही है, इसलिए वह आत्महत्या कर रहे हैं।

दिल्ली सरकार ने दिया शहीद का दर्जा

जैसे ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को राम किशन द्वारा वन रैंक वन पेंशन मुद्दे पर अपनी मांगें न माने जाने के चलते आत्महत्या करने का पता चला, वह तुरंत ही राम किशन के परिवार से मिलने हरियाणा गए थे।

राम किशन की मौत के बाद दिल्ली सरकार ने उनके परिवार को 1 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया है। साथ ही, राम किशन को शहीद का दर्जा भी दे दिया गया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
pil against delhi government for granting martyr status to ram kishan
Please Wait while comments are loading...