भारत के सबसे बड़े 'महिला बाजार' में नहीं चल पा रहे 2000 के नए नोट

Subscribe to Oneindia Hindi

इंफाल। देश में नोटबंदी के बाद समस्याओं को झेल रही जनता की परेशानी अब धीरे-धीरे कम हो रही है लेकिन 2000 के नए नोट की वजह से एक नई मुश्किल खड़ी हो गई है।

ये नोट दिखने में और छूने में इतने छोटे और बेजान से हैं कि कई लोग इनको नकली समझ रहे हैं।

Read Also: 2000 रुपए की फोटोकॉपी से दुकानदार को चूना लगा गए स्कूली बच्चे

'2000 का नोट नकली है'

'2000 का नोट नकली है'

इंफाल के ख्वैरमबंद में भारत का सबसे बड़ा महिला दुकानदारों का बाजार है। यहां की सभी दुकानों की मालकिन महिला हैं और वह ही इसे चलाती हैं। नोटबैन के बाद इस बाजार में धंधा काफी मंदा है।

एक रिपोर्ट के अनुसार, ख्वैरमबंद बाजार में लोग 2000 के नए नोट को नकली समझ रहे हैं। इस बाजार में 66 साल की दुकानदार मनिटोम्बी इस गुलाबी नोट को हाथ में लेकर कहती हैं, 'क्या सच में यह असली नोट है? क्या यह भी बैन हो जाएगा?'

कई दुकानदार नहीं ले रहे 2000 रुपए के नोट

कई दुकानदार नहीं ले रहे 2000 रुपए के नोट

ख्वैरमबंद के बाजार में मनिटोम्बी बांस के बने सामान और कलाकृतियां बेचती हैं। नोटबंदी के बाद वह दुखी हैं। वह कहती हैं कि मेरा बिजनेस कम हो गया है।

मनिटोम्बी ने कहा, 'मैं तो पुराने नोट भी ले लेती हूं लेकिन मैं दुकान के लिए सामान जिनसे खरीदती हूं, वे न तो पुराने नोट ले रहे हैं और न ही 2000 रुपए के नए नोट। मेरी तरह उनको भी लगता है कि 2000 का यह नोट नकली है।' (फोटो साभार - इंडियन एक्सप्रेस)

2000 के नोट को लेकर हैं कई तरह की अफवाहें

2000 के नोट को लेकर हैं कई तरह की अफवाहें

इस ख्वैरमबंद बाजार में बहुत हलचल रहती थी लेकिन आज ये खाली रहते हैं। बहुत ही कम कस्टमर इस बाजार में नजर आते हैं।

पिछले 40 साल से इस बाजार में सामान ढोने का काम कर रहे जदुनाथ ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया' 'मैंने एक महिला दुकानदार को देखा कि उसने नकली बताते हुए 2000 का नोट ग्राहक से लेने से इनकार कर दिया। जदुनाथ ने बताया कि वह रोज 400 रुपए कमा लेते थे लेकिन अब उनकी कमाई 100 रुपए रह गई है।

देशभर में 2000 के नोट पर लोगों की राय अच्छी नहीं

देशभर में 2000 के नोट पर लोगों की राय अच्छी नहीं

देश में जब लोगों के हाथ में 2000 का नया नोट आया तो उन्होंने पाया कि पुराने नोटों के मुकाबले यह पतला और छोटा है। लोगों की इस नोट के बारे में राय अच्छी नहीं है।

लोगों का कहना है कि 2000 का नोट दिखने में और छूने में वजनदार नहीं है। इसका कागज बहुत ही पतला है और इसका गुलाबी रंग भी फीका-फीका सा है। इस नोट को देखने के बाद जैसे इंफाल में लोगों में उत्साह नहीं है, वैसा ही कुछ अन्य जगहों पर भी देखने को मिल रहा है।

Read Also:भारत के नोट पर क्यों और किसने लगाई पाकिस्तान सरकार की मुहर? दुर्लभ नोट

 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In a market of Imphal, shop owners are not accepting the new note 2000 rupees. They are skeptic about this note to be fake.
Please Wait while comments are loading...