स्टिंग ऑपरेशन: राजनीतिक दलों के ऑफिसों में नई करेंसी का कारोबार, नेता बने दलाल

नोटबंदी के बाद पुराने नोटों को नई करेंसी में बदलने के काले कारोबार में अब नेता भी कूद गए हैं।

Subscribe to Oneindia Hindi

दिल्लीइंडिया टुडे न्यूज चैनल ने स्टिंग ऑपरेशन कर यह खुलासा किया है कि नोटबंदी के बाद राजनीतिक दलों के ऑफिस, काले धन को सफेद करने के अड्डे और नेता इस कारोबार के दलाल बन गए हैं।

पार्टी ऑफिसों में बैठे नेता, करोड़ों रुपए के पुराने नोटों को कमीशन पर नई करेंसी के नोटों में एक्सचेंज करने के दावे कर रहे हैं।

Read Also: काले धन को सफेद करने के खेल का पर्दाफाश, 2 करोड़ की नई करेंसी बरामद

sting operation

40 परसेंट कमीशन पर पुरानी के बदले नई करेंसी

इंडिया टुडे टीवी ने अपने इस स्टिंग ऑपरेशन में गाजियाबाद, नोएडा और दिल्ली के पार्टी ऑफिसों में जाकर वहां नेताओं को कैमरे में कैद किया है जो यह कह रहे हैं कि कमीशन के बदले वे काले धन को सफेद कर देंगे।

इस स्टिंग को करने के लिए रिपोर्टर अंडरकवर बिजनेसमेन बनकर पार्टी ऑफिसों में जाकर नेताओं से मिले।

बसपा के गाजियाबाद डिस्ट्रिक्ट प्रेसिडेंट वीरेंद्र जाटव ने 10 करोड़ रुपए के पुराने नोटों को नए नोटों में बदलने के लिए 40 प्रतिशत का कमीशन मांगा। उन्होंने रिपोर्टर से कहा कि वह तुरंत एक घंटे के अंदर नई करेंसी के कैश में एक्सचेंज कर देंगे।

समाजवादी पार्टी के नोएडा यूनिट के एक नेता टीटू यादव ने भी इसी रेट पर पुराने नोटों को नए नोटों में बदलने की बात कही। उन्होंने भी यही कहा कि 40 परसेंट के कमीशन पर हैंड टू हैंड नई करेंसी दी जाएगी।

राजधानी में कई नेता कर रहे हैं नोटों की दलाली

इस स्टिंग में यह कहा गया है कि राजधानी क्षेत्र में राजनीतिक दलों के कई नेता पुराने नोटों को नए नोटों में बदलने के कारोबार के दलाल बन चुके हैं। कांग्रेस हेडक्वार्टर में नेता तारिक सिद्दीकी ने एक एनजीओ के जरिए पुराने नोटों के एक्सचेंज करवाने की बात कही।

एनसीपी के दिल्ली ऑफिस में जनरल सेक्रेटरी रवि कुमार ने एक करोड़ रुपए के काले धन के बदले 30 परसेंट कमीशन पर चेक के जरिए बाकी पेमेंट देने की बात कही। रवि कुमार ने यह कहा कि इलेक्शन कैंपेन के नाम पर एक फर्जी पीआर फर्म बनाकर उसके खाते में बाकी 70 परसेंट पैसे डाले जाएंगे।

उन्होंने एनसीपी के दिल्ली यूनिट के प्रेसिडेंट कंवर प्रताप सिंह से मिलवाया जिन्होंने किश्तों में उस 70 परसेंट को लौटाने की बात कही।

'आजकल 40 परसेंट पर काम हो रहा है, मैं 30 पर कर दूंगा'

जनता दल यूनाइटेड के ऑफिस में लोकल वाइस प्रेसिडेंट सतीश सैनी ने 10 करोड़ रुपए को 30 परसेंट कमीशन पर नई करेंसी से बदलने का सौदा किया।

सतीश सैनी ने रिपोर्टर से कहा कि आजकल 40 परसेंट कमीशन पर यह काम हो रहा है। उनसे रिपोर्टर ने मोलभाव किया तो वह 30 परसेंट दलाली पर पुरानी करेंसी का एक्सचेंज करने को तैयार हो गए।

देखिए स्टिंग का वीडियो-

Read Also: बैंकों के गोरखधंधे के खिलाफ पीएम मोदी एक्शन मोड पर, 500 शाखाओं का स्टिंग ऑपरेशन

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India Today news channel exposed political party leaders for being in trade of exchanging old notes with new currency to make black money white.
Please Wait while comments are loading...