पर्रिकर बोले, OROP में कुछ तकनीकी मुद्दे हैं, इसे जल्द दूर कर लेंगे

जम्मू-कश्मीर के बडगाम में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि वन रैंक वन पेंशन योजना का फायदा लोगों को मिल रहा है।

Subscribe to Oneindia Hindi

बडगाम (जम्मू-कश्मीर)। 'वन रैंक वन पेंशन' में कुछ अनियमितता की वजह से पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल की आत्महत्या का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। इस बीच रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा है कि इसमें कुछ तकनीकी मुद्दे हैं, जिसे जल्द ही दूर कर लिया जाएगा।

manohar parrikar

रक्षामंत्री बोले, OROP का फायदा लोगों को मिल रहा है

जम्मू-कश्मीर के बडगाम में एक कार्यक्रम के दौरान रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि वन रैंक वन पेंशन योजना का फायदा लोगों को मिल रहा है। करीब एक लाख लोग इसका पूरा फायदा उठा रहे हैं।

हरियाणा के सीएम बोले, शहीद वो होते हैं जो सीमा पर जान गंवाते हैं

उन्होंने आगे कहा कि अभी इसमें कुछ तकनीकी मुद्दे हैं, जिन्हें कागजी कार्रवाई के जरिए जल्द ही सुलझा लिया जाएगा। मनोहर पर्रिकर रामकिशन ग्रेवाल की आत्महत्या के मुद्दे पर ये बातें कही।

बता दें कि पूर्व सैनिक रामकिशन ग्रेवाल ने दिल्ली के जंतर-मंतर में जहर खाकर आत्म हत्या कर ली थी। उनका आरोप था कि वन रैंक वन पेंशन में कई अनियमितता थी। जिसको लेकर उन्होंने रक्षा मंत्री से मिलने की कोशिश की थी।

'जल्द ही तकनीकी मुद्दों को दूर किया जाएगा'

हालांकि रामकिशन ग्रेवाल की मुलाकात रक्षामंत्री से नहीं हो सकी। इस बीच लगातार मानसिक तनाव झेल रहे पूर्व सैनिक ग्रेवाल ने आत्महत्या कर ली। आत्महत्या से पहले उन्होंने एक पेपर भी छोड़ा था।

भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने राहुल गांधी को बताया कॉमेडी सर्कस का हीरो

इस पेपर में उन्होंने उन मुद्दों का जिक्र किया था जिसकी वजह से वन रैंक वन पेंशन का उन्हें पूरा फायदा नहीं मिल पा रहा था। आखिरकार उन्होंने आत्महत्या का फैसला लिया और उसी पेपर पर लिखा कि अपने सैनिक भाइयों के लिए वो ये कदम उठा रहे हैं।

रामकिशन ग्रेवाल की आत्महत्या के बाद इस पर जमकर सियासी बवाल देखने को मिला। इस बीच रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर के बयान से साफ है कि सरकार वन रैंक वन पेंशन के मुद्दों को जल्द सुलझाने की कोशिश करेगी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Manohar Parrikar says some technical issue in OROP we will soon sort out the paperwork.
Please Wait while comments are loading...