मसाज पार्लरों में बढ़ रही थाईलैंड की महिलाओं की मांग, कराया जा रहा ये गंदा काम

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई। देश के महानगरों में बीते कुछ सालों में स्पा और मसाज पार्लरों की तादाद काफी बढ़ी है। इसमें काम करने वाली महिलाओं की मांग में भी तेजी देखने में आई है लेकिन इन पार्लरों में विदेश से दूसरे काम के लिए बुलाकर महिलाओं को सेक्स स्लेव की तरह से काम लिया जा रहा है। हाल ही में मुंबई और बेंगलुरू में पुलिस के छापों में ये बात सामने आई है।

स्पा में थाई महिलाओं की मांग

स्पा में थाई महिलाओं की मांग

एनडीटीवी की खबर के अनुसार, मुंबई और बेंगलुरू के स्पा और मसाज पार्लरों में थाइलैंड की महिलाओं की काफी मांग है। इनको अच्छी नौकरी के लालच और मानव तस्करी के जरिए लाया जाता है और फिर इन पार्लरों की आड़ में सेक्स इंडस्ट्री में धकेल दिया जा रहा है। पुलिस और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने थाई महिलाओं को बचाने की कोशिशें भी की हैं।

इस साल बचाई गईं 40 थाई महिलाएं

इस साल बचाई गईं 40 थाई महिलाएं

इस साल 40 थाई महिलाओं को पुणे और मुंबई में अलग-अलग जगहों पर छापे मारकर पुलिस आजाद करा चुकी है। पार्लर की आड़ में इन महिलाओं से वैश्यावृत्ति कराई जा रही थी। पुलिस का कहना है कि थाईलैंड की ये महिलाएं ज्यादा पढ़ी लिखी नहीं होती और उनका परिवार उनकी कमाई पर ही निर्भर रहता है. उन्होंने बताया कि सेक्स के लिए थाईलैंड की 25-40 साल की महिलाओं को उपलब्ध कराया जाता है।

गोरी होती हैं इसलिए मांग ज्यादा

गोरी होती हैं इसलिए मांग ज्यादा

समाज सेविका ज्योति नाले के अनुसार, थाईलैंड की मसाज करने वाली लड़कियों को उनकी गोरी चमड़ी की वजह से भारत में उनकी मांग ज्यादा है। उन्होंने बताया कि जुलाई में 10 थाई महिलाओं को पुणे के पोश इलाके में स्थित एक पार्लर से बचाया गया है। इन महिलाओं को भारत में ज्यादा कमाई का लालच भी दिया जाता है। पुलिस ने बताया कि बचाई गई महिलाओं को शेल्टर होम में रखा गया है, कानूनी प्रक्रिया पूरी इन्हें इनके देश भेज दिया जाएगा।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Parlours Drive Demand For Thailand Sex Slaves In Bengaluru Mumbai
Please Wait while comments are loading...