अब सलवार-कमीज और चूड़ीदार में पद्मनाभस्वामी मंदिर में महिलाओं की एंट्री नहीं

केरल के पद्माभस्वामी मंदिर में महिलाओं को सलवार-कमीज में एंट्री नहीं मिलेगी। हाईकोर्ट ने मंहिलाओं पर लगाए गए ड्रेस कोड को सही ठहराया है।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

कोच्चि। देश के प्रसिद्ध और सबसे धनी हिंदू मंदिर पद्ममाभस्वामी मंदिर में अब महिलाएं सलवार-कमीज में प्रवेश नहीं कर पाएंगी। केरल हाईकोर्ट के आदेश के बाद से मंदिर में महिलाओं को सलवार-कमीज या फिर चूड़ीदार पहनकर आने की इजाजत नहीं मिलेगी।

padmanabhaswamy

केरल हाईकोर्ट ने याचिका की सुनवाई के बाद इस पाबंदी को जारी रखने का फैसला सुनाया है। दरअसल मंदिर के मुख्य कार्यकारी केएन सतीश ने कुछ दिनों पहले महिलाओं के ऊपर लगाए गए ड्रेस कोड की पाबंदी में छूट दी थी, जिसके बाद उनके इस फैसले को कोर्ट में चुनौती दी गई। कोर्ट ने इस मसले को सुलझाने के लिए मंदिर प्रबंधन को 30 दिनों का वक्त दिया, लेकिन जब वो ऐसा करने में असफल रहे तो कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया।

कौन कहता है कि मुक्केबाजी सिर्फ इंसानों के बीच हो सकती हैं, देखें ये वीडियो....

कोर्ट ने कहा है कि मंदिर के रीति-रिवाजों को लेकर फैसले लेने का हक सिर्फ मंदिर के मुख्य तंत्री को है। कोर्ट ने कहा कि मंदिर के कार्यकारी अधिकारी को मंदिर से जुड़ी परंपरा में बदलाव करने का कोई हक नहीं है। कोर्ट के इस आदेश के बाद महिलाओं को इस नियम को मानना होगा। यानी अब वो सलवार कमीज या चूड़ीदार पहन कर मंदिर में प्रवेश नहीं कर पाएंगी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Women wearing churidars won't be allowed inside the Sri Padmanabhaswamy temple in Thiruvanthanpuram, the Kerala High Court ruled on Thursday, making it clear the chief priest's word is final with regard to temple rites and rituals.
Please Wait while comments are loading...