उरी हमले का क्या है चाइनीज लाइटर कनेक्शन?

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। उरी में हुए आतंकी हमले के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) 11 स्थानीय दुकानदारों की छानबीन कर रही है, जिनमें एक मोबाइल फोन रिटेलर भी शामिल है। रिटेलर ने हमले से कुछ दिन पहले ही 6 बिहार रेजिमेंट के सैनिकों को सिम कार्ड उपलब्ध कराए थे।

nia

रिलेटर पर एनआईए का ध्यान इसलिए गया क्योंकि हमले से ठीक एक दिन पहले यानी शनिवार को उसकी दुकान निर्धारित समय के तीन घंटे बाद बंद हुई थी।

उसकी दुकान बंद होने के कुछ ही घंटों बाद वहां आतंकियों ने हमला बोला था। आर्मी कैंप में आमतौर पर साढ़े छह बजे दुकाने बंद हो जाती हैं।

पढ़ें: UNGA में भारत के खिलाफ नवाज शरीफ के 10 कड़वे बोल

10 बजे के बाद बंद हुई थी दुकान

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, आर्मी पुलिस मेन गेट पर एक रजिस्टर में आने-जाने वालों की डिजिटल और प्रिंट माध्यमों से जानकारी रखती है।

सूत्रों ने बताया कि दुकानकार काफी सालों से ब्रिगेड में रहा है। इसने हाल ही में कुछ सैनिकों को सिम भी दिए थे। हमले से एक दिन पहले उसने अपनी दुकान 10 बजे के बाद बंद की थी, जो कि थोड़ा अजीब है।

इस पर जल्द उससे पूछताछ की जाएगी। एनआईए इलाके में मोबाइल एसेसरीज बेचने वाले कुछ और दुकानदारों की पहचान करने में जुटी है।

पढ़ें: UNGA में बोले नवाज शरीफ- कश्मीर में शांति नहीं चाहता भारत

घटनास्थल पर मिले 3 अलग-अलग लाइटर

बता दें कि आतंकियों ने हमले के दौरान चाइनीच लाइटर का इस्तेमाल किया था, जिनके जरिए टेंटों में आग लगी।

आग की लपटों में घिरने से 13 जवानों की जिंदा जलकर मौत हो गई थी। हमले की जगह से तीन अलग-अलग रंग के लाइटर बरामद हुए हैं।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
NIA is investigating shopkeepers in suspect of uri terror attack
Please Wait while comments are loading...