उसे पति के घर मिली सौतन, सदमे में घर लौटी तो भाई भी बन गए हैवान

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई। शादी के बाद नवविवाहिता भविष्य के तमाम सुनहरे सपने बुनती है, लेकिन इन तमाम सपनों के टूटने के बाद जिस तरह से मुंबई की इस महिला को अपने ही भाइयों ने एक कमरे में तकरीबन 20 साल के लिए कैद कर दिया उसने मानवीय संवेदनाओं को कटघरे में खड़ा कर दिया है, आखिर कैसे अपने ही सगे भाई जिनके साथ वह खेलते-कूदते बड़ी हुई ने उसे एक कमरे में 20 साल के लिए बंद रखा।

इसे भी पढ़ें- रेप पीड़िता गर्भपात कराने के लिए लेकर आए रेपिस्ट की अनुमति?

परिवार बना दुश्मन

परिवार बना दुश्मन

महिला की इस महिला के तमाम सपने उस वक्त टूट गए जब उसका मुंबई के व्यक्ति से विवाह हुआ दरअसल महाराष्ट्र की इस महिला का जब विवाह हुआ तो उसे विवाह के बाद इस बात की जानकारी मिली कि उसके पति की पहले से ही एक पत्नी है। जब महिला को इस बात की जानकारी मिली तो वह व्यथित मन से वापस अपने गोवा स्थित घर वापस लौट आई। महिला जहां अपने घरवालों से उम्मीद कर रही थी कि उसका परिवार उसे न्याय दिलाएगा, लेकिन उससे इतर परिवार ने उसके साथ वह किया जिसकी उसने कभी कल्पना भी नहीं की थी।

50 साल की उम्र कमरे में खत्म

50 साल की उम्र कमरे में खत्म

जब महिला वापस अपने घर लौटी तो उसका परिवार उसके साथ समन्वय नहीं बैठा सका, महिला के असामान्य व्यवहार को देखते हुए उसे एक कमरे में बंद कर दिया, लेकिन शायद ही महिला को इस बात का अंदाजा हो कि अब अगले 20 सालों के लिए यहीं उसके सपनों की दुनिया को दफन कर दिया जाएगा। जिस वक्त महिला पुलिस की एक टीम महिला की मदद के लिए पहुंची तो वह नग्न अवस्था में कमरे में थी वह वह उस गंदे कमरे से बाहर निकलने के लिए तैयार नहीं थी। गोवा पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि महिला की उम्र तकरीबन 50 वर्ष के करीब है और वह काफी लंबे समय से कमरे से बाहर नहीं निकली है।

एक खिड़की से ही देखती रही दुनिया को

एक खिड़की से ही देखती रही दुनिया को

जानकारी के अनुसार महिला को एक अंधेरे कमरे में कैद कर दिया गया था, यह कमरा उसके माता-पिता के घर के ही करीब था। वह सिर्फ एक खिड़की से ही बाहर की दुनिया को तकरीबन 20 साल तक देखती रही, इसी खिड़की से महिला को खाने के लिए दिया जाता था। महिला के दो भाई और परिवार के सदस्य इस पुश्तैनी घर में रहते थे। रोंगटे खड़ी कर देने वाली यह घटना कैंडोलिम गांव की है, जोकि पास में ही समुद्री तट से दूर नहीं है, जहां हजारों की संख्या में दुनियाभर के पर्यटक घूमने के लिए आते हैं। महिला को पुलिस ने इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया है।

एनजीओ की पहल पर बची महिला

एनजीओ की पहल पर बची महिला

पुलिस की टीम ने घर में स्थानीय जानकारी के बाद छापेमारी की थी। पुलिस को इस बाबत सामाजिक संगठन बैलांचो साद नाम की संस्था ने जानकारी दी थी, यह संगठन महिलाओं के अधिकार के लिए काम करती है। संस्था को महिला के बारे में जानकारी एक अज्ञात व्यक्ति के द्वारा ईमेल के जरिए मिली थी, जिसने दावा किया है कि उसने महिला को उस कमरे में बंद देखा है। महिला के परिवार के हवाले से पुलिस ने बताया कि महिला का मुंबई के एक व्यक्ति से विवाह हुआ था, लेकिन जब उसे इस बात की जानकारी मिली की उसके पति की पहले से ही शादी हो चुकी है तो वह वापस घर लौट आई।

पुलिस कर रही है मामले की जांच

पुलिस कर रही है मामले की जांच

लेकिन जब महिला वापस अपने घर लौटी तो परिवार के सदस्यों ने उसे एक कमरे में बंद कर दिया, जिसके बाद महिला का व्यवहार असामान्य हो गया। पुलिस का कहना है कि हमने अभी तक इस मामले में किसी को गिरफ्तार नहीं किया है, मामले की प्राथमिक जांच की जांच की जा रही है, महिला और परिवार के सदस्यों का बयान दर्ज किया गया है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Newly married woman was forced to spend her 20 year in a dark room. Police has rescued her after the complaint of NGO.
Please Wait while comments are loading...