मोदी के ऐतिहासिक ऐलान के सामने फीका पड़ गया अमेरिका का चुनाव

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। काला धन पर लगाम लगाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उठाए गए ऐतिहासिक कदम ( 500 रुपए और 1000 रुपए के नोट पर बैन) ने अमेरिका चुनाव की चर्चा को फीका कर दिया है। कल तक जहां सिर्फ 'अमेरिका में वोट' की चर्चा हो रही थी वहीं आज चारों तरफ 'भारत में नोट' की चर्चा होने लगी है।

500-1000 के नोट बंदः इन सवालों का जवाब दो...मोदी जी 

Narendra Modi's historic move downplays US Election results 2016 in India

सभी मीडिया चैनलों पर से अमेरिकी चुनाव की ब्रेकिंग हटा दी गई है और सिर्फ मोदी के इस फैसले पर चर्चा हो रही है। आपको बता दें कि अमेरिका चुनाव को लेकर लगभग सभी चैनलों ने कवरेज के लिए बड़ा प्‍लान बनाया था। अब बात अगर अमेरिका की करें तो भारतीयों की एक बड़ी संख्‍या यहां रहती है।

US राष्‍ट्रपति चुनाव: भारतीय मूल की कमला हैरिस ने रचा इतिहास 

अमेरिका में सबसे ज्यादा चर्चा मोदी को लेकर इसलिए है क्योंकि अमेरिका में चल रहे चुनावों को लेकर पिछले काफी समय से राष्ट्रपति पद के दोनों उम्मीदवारों के बीच भारत से संबंध कैसे होंगे, इसके मुद्दे काफी अहम रहे। अब चूंकि अचानक मोदी ने भारत की इकॉनॉमी और काले धन को इफेक्ट करने वाला एक बड़ा फैसला किया है, जिस पर अमेरिका में भी चर्चा गर्म हो गई है।

विस्‍तार से जानिए क्‍या है पूरा मामला

पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को 1000 और 500 रुपये के मौजूदा करंसी नोटों को 8 नवंबर की रात 12 बजे से बंद करने का ऐलान किया। राष्ट्र को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 500 और 1000 रुपये के करंसी नोट लीगल टेंडर नोट (यानी कानूनी रूप से मान्य) नहीं रहेंगे। इनके अलावा अन्य सभी नोट और सिक्के मान्य होंगे। पीएम मोदी ने कहा, ' हम जाली नोटों और करप्शन के खिलाफ जो जंग लड़ रहे हैं, इससे उस लड़ाई को ताकत मिलने वाली है।'

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Narendra Modi's historic move downplays US Election results 2016 in India.
Please Wait while comments are loading...