भारत-पाकिस्तान तनाव: नरेंद्र मोदी सरकार ने हथियार फैक्ट्रियों से तैयार रहने को कहा

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव के बीच नरेंद्र मोदी सरकार युद्ध होने की स्थिति में देश में सेना के लिए हथियारों के उपलब्ध भंडार का आंकलन कर रही है।

युद्ध की आशंका को देखते हुए सरकार ने बड़ी आर्म्स फैक्ट्रियों से कहा है कि जरूरत पड़ने पर ज्यादा हथियार निर्माण के लिए वे तैयार रहें।

Read Also: पाक को ललकारने वाले सेना के जवान को मिली मौत की धमकी

indian army1

'डिमांड पर तुरंत हथियार करें सप्लाई'

नरेंद्र मोदी सरकार ने आर्म्स बनाने वाली देश की बड़ी कंपनियों को कहा है कि हथियार बनाने का कॉन्ट्रेक्ट उनको कभी भी मिल सकता है, जिसे तुरंत सप्लाई करना होगा इसलिए ज्यादा से ज्यादा हथियार बनाने के लिए फैक्ट्रियां तैयार रहें।

सरकार कर रही हथियारों की क्षमता का आंकलन

एक टॉप डिफेंस अधिकारी का कहना है कि सरकार जानना चाहती है देश के आर्म्स फैक्ट्रियों के पास हथियार बनाकर तुरंत सप्लाई करने की क्षमता कितनी है।

सूत्रों का कहना है कि पठानकोट एयर बेस पर हुए आतंकी हमलों के बाद भी सरकार ने इसी तरह का आंकलन करवाया था।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी सर्जिकल स्ट्राइक से ठीक एक दिन पहले यह कहा था कि देश की रक्षा जरूरतों को देखते हुए डिफेंस बजट बढ़ाया जा सकता है।

indian army2

युद्ध भंडार में हथियारों की कमी

चीन के साथ लगी सीमा पर नई मिलिटरी यूनिट्स बनाए जाने की वजह से देश के युद्ध भंडार में हथियारों के स्टॉक में कमी आई। इसको लेकर सरकार चिंतित है क्योंकि अगर युद्ध छिड़ता है तो हथियारों की अचानक कमी पड़ सकती है।

Read Also: समाजवादी योजना: मुफ्त में पाएं स्मार्टफोन, बस ध्यान रखें 14 बातें

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In the wake of tension mounting between India and Pakistan, Narendra Modi government asked armed suppliers to be ready to supply to meet immediate demand.
Please Wait while comments are loading...