अफजल गुरु की मौत का बदला था नगरोटा आतंकी हमला!

नगरोटा आतंकी हमले के बाद सेना को कॉम्बिंग ऑपरेशन जारी। सेना को आतंकियों के पास से मिले उर्दू में लिखे पर्चे जिसमें दावा कि अफजल गुरु की मौत का बदला लेने के लिए हुआ नगरोटा आतंकी हमला।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नगरोटा। नगरोटा में आतंकी हमले के बाद सेना का कॉम्बिंग ऑपरेशन जारी है। जो आतंकी मारे गए हैं उनके पास से सेना को भारी मात्रा में हथियार बरामद हुए हैं। आतंकियों के पास से खास तरह के केमिकल्‍स भी मिले हैं। वहीं सेना को कुछ पर्चे भी हाथ लगे है। इनमें अफजल गुरु का जिक्र है।

afzal-guru-nagrota-terror-attack

पढ़ें-पठानकोट और नगरोटा आतंकी हमले की पांच समान बातें

सेना को मिले पर्चे

आतंकियों के पास से सेना को जो पर्चे मिले हैं उनमें लिखा है, 'अफजल गुरु एक शहीद था और उसकी शहादत को इंतकाम लेने के लिए नगरोटा आतंकी हमला पहली किश्‍त।' इसके अंत में गजवा-ए-हिंद फिदायीन ऐसा लिखा हुआ है।

इन पर्चों के बाद सेना को शक है कि आतंकी जैश-ए-मोहम्‍मद से जुड़े हो सकते हैं। अफजल गुरु संसद हमले का दोषी था और उसे वर्ष 2013 में फांसी दे दी गई थी।

पढ़ें-विदाई से पहले नगरोटा हमले की साजिश कर गए जनरल शरीफ!

सीमा पार से मिल रहे थे निर्देश

नगरोटा के अलावा सांबा में भी आतंकियों के साथ मुठभेड़ हुई थी और वहां भी तीन आतंकी मारे गए थे। नगरोटा के आर्मी कैंप में कॉम्बिंग जारी है। वहीं सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग भी नगरोटा पहुंच गए हैं।

एजेंसियों के मुताबिक हमले के दौरान आतंकियों को सीमा पार से निर्देश दिए जा रहे थे। एजेंसियों ने पांच कॉल ट्रेस की हैं और इन कॉल्‍स से यह बात साफ जाहिर होती है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Indian Army has found papers writte in Urdu from the three attackers killed in Nagrota Terror attack on Tuesday. These papers claim that it was a revenge of Afzal Guru's death.
Please Wait while comments are loading...