भारत ने सुनाई पाक को खरी-खरी, कहा आतंकवाद पर लगे लगाम

भारत ने क‍हा हार्ट ऑफ एशिया के दौरान पाकिस्‍तान की ओर से किसी भी तरह की द्विपक्षीय वार्ता का कोई प्रस्‍ताव नहीं मिला है। पाकिस्‍तान को फिर से भेजा साफ संदेश कि आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकते।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। नगरोटा आतंकी हमले के बाद भारत ने एक बार फिर से पाकिस्‍तान को साफ और कड़ा संदेश भेज दिया है। भारत ने पाक को साफ कर दिया है कि आतंकवाद और बातचीत साथ-साथ नहीं चल सकते हैं।

nagrota-terror-attack-100.jpg

पढ़ें-नोटबंदी की वजह से नहीं मिल सकते नगरोटा हमले के सुबूत!

आतंकवाद पर लगाम लगाए पाक

गुरुवार को विदेश मंत्रालय की नियमित प्रेस कांफ्रेंस के दौरान विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता विकास स्‍वरूप ने पाक को खरी-खरी सुनाई।

स्‍वरूप ने कहा कि भारत कभी सीमा पार से जारी आतंकवाद को स्‍वीकार नहीं करेगा। पहले सीमा पार से जारी आतंकवाद पर लगाम लगे और फिर उसके बाद ही बातचीत हो सकती है।

पढ़ें-पाकिस्‍तान से नगरोटा सिर्फ तीन घंटे में पहुंच जाते हैं आतंकी

नगरोटा और उरी पर क्‍या कर रहा भारत

स्‍वरूप के मुताबिक नगरोटा आतंकी हमले में और ज्‍यादा जानकारी का इंतजार है। उसके बाद ही अगला कदम तय किया जाएगा।

वहीं उन्‍होंने बताया कि उरी आतंकी हमले पर पाकिस्‍तान की ओर से इंटरनेशनल इनक्‍वायरी की बात कही गई थी।

भारत ने कहा था कि घरेलू इनक्‍वायरी भी काफी है। भारत की ओर से पाक को उरी आतंकी हमले से जुड़े डीएएन और फिंगर प्रिंट्स मुहैया कराए गए थे।

पढ़ें-पठानकोट और नगरोटा आतंकी हमले की पांच समान बातें

आतंक के माहौल में बातचीत नहीं

स्‍वरूप ने कहा कि भारत भी बातचीत का पक्षधर है लेकिन यह बातचीत आतंकवाद के माहौल में नहीं हो सकती है।

स्‍वरूप ने जानकारी कि पाक की ओर से अभी तक भारत को हार्ट ऑ‍फ एशिया के दौरान द्विपक्षीय वार्ता का प्रस्‍ताव नहीं मिला है।

आपको बता दें कि पंजाब के शहर अमृतसर में तीन और चार दिसंबर को हार्ट ऑफ एशिया का आयोजन होना है। इसमें भाग लेने के लिए पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज भारत आ रहे हैं।

पढ़ें-विदाई से पहले नगरोटा आतंकी हमले की साजिश कर गए जनरल शरीफ!

सेना प्रमुख की नियुक्ति आतंरिक मसला

स्‍वरूप ने यह भी बताया कि इस वर्ष पाकिस्‍तान में होने वाले सार्क सम्‍मेलन के न होने की वजह भारत नहीं है।

उन्‍होंने बताया कि नेपाल को किसी अज्ञात सदस्‍य की ओर से चिट्ठी लिखी गई थी और कहा गया था कि माहौल वार्ता के लिए सहायक नहीं है।

स्‍वरूप से पाकिस्‍तान के नए सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा की नियुक्ति पर भी सवाल पूछा गया।

उन्‍होंने कहा कि सेना प्रमुख की नियुक्ति पाक का आंतरिक मामला है। भारत हमेशा पाक का आंकलन उसके व्‍यवहार और उसके ट्रैक रिकॉर्ड पर करेगा।

पढ़ें-पाक पर ट्रंप का नया कमेंट, क्‍या वाकई भारत के लिए चिंता की बात ?

रीडआउट पर क्‍या सोचता है भारत

वहीं स्‍वरूप ने पाकिस्‍तान की ओर से रिलीज उस रीडआउट पर भी जवाब दिया जो नए अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और पाक पीएम नवाज शरीफ के फोन कॉल से जुड़ा है।

स्‍वरूप ने कहा है कि अभी तक सिर्फ एक तरफा बातचीत का पता चला है और ऐसे में फिलहाल कुछ भी नहीं कहा जा सकता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India has reacted after Nagrota terror attack. India has conveyed it to Pakistan that terrorism and talks cannot go together.
Please Wait while comments are loading...