सांसद के दामाद के पास मिला नाटकीय अंदाज में लापता हुआ 3.5 करोड़ रुपए, गिरफ्तार

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। चार्टर्ड प्‍लेन से हरियाणा के हिसार से नागालैंड के दिमापुर पहुंचा 3.5 करोड़ रुपए (500 और 1000 के पुराने नोट) जिस नाटकीय अंदाज में लापता हुए थे, बुधवार को उतने ही नाटकीय अंदाज में मिल भी गए। पुलिस के आला अधिकारियों ने बताया कि यह कैश सीआईएसएफ अधिकारियों द्वारा जब्‍त किया गया। अंग्रेजी अखबार टाइम्‍स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक बरामद किया गया पैसा पहले आयकर विभाग को दिया गया फिर आयकर विभाग द्वारा उसके दावेदार अनंतो जिमोमी को दे दिया गया।
नोट बदलने गई लड़की को आया गुस्सा, भीड़ के सामने उतारे कपड़े

Nagaland MP's son-in-law held, 'missing' Rs 3.5 crore cash found
 

जिमोमी को हिरासत में लिया गया है। वह लोकसभा सांसद नेफिउ रिओ के दामाद हैं। रिओ केंद्र में बीजेपी सरकार के समर्थक हैं। दिल्ली में बैठे आयकर विभाग और इंटेलिजेंस अधिकारियों को लगा कि नागालैंड के चार्टर्ड प्लेन से बरामद 3.5 करोड़ रुपये की रकम बड़े मनी लॉन्ड्रिंग रैकेट का हिस्सा हो सकता है।

500 और 1000 के नोटों से भरा ट्रक पलटा, सड़क पर बिखरे नोट ही नोट 

आयकर विभाग की छानबीन में पता चला है कि दिल्ली-एनसीआर के कुछ कारोबारियों ने झिमोमी को ये पैसे दिए थे। इन कारोबारियों में गुड़गांव स्थित एक प्रिंटिंग और पैकेजिंग कंपनी के मालिक भी शामिल हैं। झामोमी ने हिसार के छोटे एयरफील्ड की साधारण सुरक्षा व्यवस्था का फायदा उठाते हुए एक चार्टेड विमान से बंद किए गए 500 और 1000 के नोटों में कम से कम 11 करोड़ रुपये दीमापुर पहुंचाए।

इन पैसों को झिमोमी ने अपने बैंक खातों में जमा कराया। माना जा रहा है कि झिमोमी सभी कारोबारियों को आरटीजीएस के माध्यम से उनके पैसे लौटा रहा था। आयकर विभाग को पता चला है कि झिमोमी ने कथित तौर पर अपने दिमापुर स्थित एक्सिस बैंक के खाते में पहले भी सात करोड़ रुपये जमा कराए थे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
The cash of more than Rs 3.5 crore in scrapped Rs 500 and Rs 1,000 notes that disappeared from Dimapur on Tuesday after being flown in by a chartered flight resurfaced on Wednesday in an equally dramatic manner.
Please Wait while comments are loading...