नाभा जेल से भागा खालिस्तानी आतंकी हरमिंदर सिंह मिंटू दिल्ली में गिरफ्तार

हरमिंदर सिंह मिंटू पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई से भी ट्रेनिंग ले चुका है और आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए उसे फंड की भी मदद मिली।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। पंजाब की नाभा जेल से रविवार को भागा खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का खूंखार आतंकी सरगना हरमिंदर सिंह मिंटू दिल्ली में पकड़ा गया है। दिल्ली पुलिस की एक स्पेशल टीम ने मिंटू को धर दबोचा।

Harminder Singh Mintoo

वहीं, गैंगस्टर गुरप्रीत सिंह और उसके साथियों को पंजाब के जालंधर से गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने इनके पास से भारी मात्रा में हथियार भी बरामद किए हैं।

रविवार को पंजाब की नाभा जेल पर 10 हथियारबंद लोगों ने हमला किया और खालिस्तानी संगठन के सरगना हरमिंदर सिंह मिंटू समेत छह गैंगस्टर्स को छुड़ा ले गए।

नाभा जेलब्रेक: पढ़िए, कितना खूंखार है खालिस्तानी चीफ हरमिंदर सिंह मिंटू?

हथियारों से लैस सभी 10 बदमाश पुलिस की यूनिफॉर्म में थे। उन्होंने नाभा जेल पर हमला किया और लगभग 100 राउंड की अंधाधुंध फायरिंग की।

आतंकियों के भाग जाने के बाद पंजाब सहित देश के कई राज्यों में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया था। सूत्रों की मानें तो मिंटू को दिल्ली के किसी रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया गया है।

आपको बता दें कि पंजाब पुलिस ने नवंबर 2014 में दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से थाइलैंड से आ रहे खालिस्तानी चीफ हरमिंदर सिंह मिंटू को गिरफ्तार किया था।

फरार आतंकी की आशंका में पुलिस ने चलाई गोली, निहत्थी महिला की मौत

खालिस्तानी आतंकी सरगना हरमिंदर सिंह मिंटू को कम से कम 10 आतंकी घटनाओं में पुलिस तलाश रही थी। 2008 में डेरा सच्चा सौदा गुरमीत रामरहीम सिंह पर हमले में भी उसका हाथ बताया जाता है।

शिवसेना के 3 नेताओं की हत्या की साजिश में था वांछित

इसके अलावा 2010 में लुधियाना के पास हलवारा एयरफोर्स स्टेशन के पास विस्फोटकों की बरामदगी केस में हरमिंदर सिंह मिंटू शामिल बताया जाता है। पंजाब में शिवसेना के तीन नेताओं की हत्या की साजिश रचने के केस में भी वह वांछित था।

खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का मेंबर बनने से पहले 49 साल का हरमिंदर सिंह मिंटू, आतंकी संगठन बब्बर खालसा का सदस्य था जिसका लीडर वाधवा सिंह था। बाद में बब्बर खालसा से अलग हुए खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का वह चीफ बन गया।

नाभा जेलब्रेक: भारी मात्रा में हथियार के साथ UP में हुई पहली गिरफ्तारी

भारत की सुरक्षा एजेंसियों का कहना है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के साथ भी हरमिंदर सिंह मिंटू जुड़ा रहा है। आईएसआई से हरमिंदर ट्रेनिंग ले चुका है और आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए उसे फंड की भी मदद मिली। वह कई बार पाकिस्तान जा चुका है।

यूपी से हुई पहली गिरफ्तारी

इससे पहले रविवार को ही जेल से भागे एक गैंगस्टर को उत्तर प्रदेश में गिरफ्तार कर लिया गया था। सुबह से ही यूपी पुलिस हाई अलर्ट पर थी, जिसके बाद शाम को उसे सफलता मिली और जेलब्रेक का एक आरोपी भारी मात्रा में हथियारों के साथ गिरफ्तार किया गया।

इस पूरे कांड में अपराधियों और खालिस्तान के एक आतंकवादी को भगाने में मदद करने के आरोपी परमिंदर सिंह को यूपी पुलिस ने शामली से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उसके पास से भारी मात्रा में हथियार और गोला बारूद भी बरामद किया है।

यूपी पुलिस के एडीजी दलजीत सिंह चौधरी ने खुद इस बात की जानकारी दी। एएनआई से बात करते हुए उन्होंने कहा कि आरोपी परमिंदर ने खुद अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

उन्होंने बताया कि उसे नाभा जेल के बारे में पूरी जानकारी थी। वो डेढ़ महीने पहले भी इस जेल से भागा था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Khalistani terrorist Harminder Singh Mintoo who had escaped from Nabha jail yesterday has been arrested by Delhi Police.
Please Wait while comments are loading...