बैंक में 500-1000 रु. के नोट जमा करने जा रहे हैं तो चेक कर लें पुराना रिकॉर्ड, मिल सकता है नोटिस

बैंक में जमा करने जा रहे हैं 500-1000 के नोट तो रुर चेक कर लें अपने अकाउंट के पुराने रिकॉर्ड।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। 500-1000 रुपए के नोट बंद करने के बाद आज पहली बार पीएम मोदी बोलें। पीएम मोदी ने नोट बदलने की वजह आम जनता को होने वाली परेशानियों का जिक्र किया। उन्होंने देशवासियों को भरोसा दिलाया कि 50 दिनों में लोगों को स्वर्णिम भारत बनाकर देंगे।

bank

उन्होंने कहा कि इस फैसले से ईमानदार लोगों को परेशान और डरने की कोई जरूरत नहीं है। सरकार की नियम के मुताबिक आप 2.5 लाख रुपए तक बैंकों में जमा कर सकते हैं। ढ़ाई लाख तक की राशी जमा करने पर बैंक इसकी जानकारी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को नहीं देगी, लेकिन इससे अधिक की राशी बैंक में जमा करने पर आपसे पूछताछ की जा सकती है। ये तो वो जानकारी है जो वित्त मंत्रालय द्वारा दी गई है, लेकिन हम आपको आज एक अहम जानकारी बता रहे हैं, जिसे जानना बेहद अहम है।

अगर आप अपने 500-1000 के पुराने नोट बैंक अकाउंट में जमा करने जा रहे हैं तो आपको अपने बैंक अकाउंट के रिकॉर्ड को एक बार जरुर चेक कर लेना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर अपने लंबे समय से अपने अकाउंट से पैसा नहीं निकाला और अब अपने अकाउंट में 2-2.5 लाख रुपए जमा कराने जा रहे हैं तो आपसे पूछताछ की जा सकती है।

नोट बदलने की इस प्रक्रिया के दौरान आयकर विभाग उन बैंक खातों पर नजर रख रही है, जिसमें लंबे वक्त से कोई ट्रांसजैक्शन नहीं हुआ और उनमें पैसे जमा कराए जा रहे हैं। ऐसे में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट उन खाताधारकों से पूछताछ कर सकती है। हलांकि ये पूछताछ उनसे की जाएगी जो अपने बंद पड़े बैंक अकाउंटों में 2 लाऱख या इससे अधिक का अमाउंट जमा करवाने जा रहे हैं।

ऐसे में जानकारकों की सलाह यहीं है कि अगर आप 2 लाख या इससे अधिक रकम बैंक में डिपॉजिट कराने जा रहे हैं तो टैक्‍स नियमों का विशेष ध्यान रखें। अगर आपने ऐसा नहीं किया तो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट आपको नोटिस भेज सकता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
You must check your Withdrawal Record before going to deposite Rs 500 and Rs 1000 Old notes in Bank.Income tax department may ask question to you.
Please Wait while comments are loading...