आदिवासी की हत्या के आरोप में डीयू की प्रोफेसर नंदिनी सुंदर समेत 11 के खिलाफ केस दर्ज

Subscribe to Oneindia Hindi

रायपुर। दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर जीएन साईबाबा पर माओवादियों के साथ कथित संबंध रखने के आरोपों के बाद अब एक अन्य प्रोफेसर पर गंभीर आरोप लगे हैं। प्रोफेसर नंदिनी सुंदर और 10 अन्य के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है।

professor Nandini Sundar

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में पुलिस ने एक आदिवासी की हत्या के मामले में प्रोफेसर नंदिनी और 10 अन्य के खिलाफ मारे गए शख्स की पत्नी की ओर से दी गई शिकायत के बाद केस दर्ज कर लिया है।

सुकमा के एएसपी जितेंद्र शुक्ला ने बताया, 'हमने नंदिनी सुंदर और अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 120बी, 302, 147, 148, 149 के तहत केस दर्ज कर लिया है।'

पढ़ें: WhatsApp लाया है एक और नया फीचर, जानिए कैसे कर पाएंगे इस्तेमाल

इन लोगों के खिलाफ की थी शिकायत
सुकमा की कुमाकोलेंग पंचायत में आने वाले नामा गांव के बघेल नाम के शख्स को माओवादियों ने शनिवार को मार डाला था। पुलिस ने बताया कि बघेल ने कुछ अन्य लोगों के साथ मिलकर मई में प्रो. सुंदर, जेएनयू की प्रोफेसर अर्चना प्रसाद, दिल्ली के जोशी अधिकार संस्थान के विनीत तिवारी, छत्तीसगढ़ सीपीआई (एम) के राज्य सचिव संजय पराते और एक अज्ञात महिला एक्टिविस्ट के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी और पुलिस के खिलाफ आदिवासियों को उकसाने का आरोप लगाया था।

पढ़ें: राजनाथ बोले- चुनाव जीतने दो, फिर देखेंगे कितना दूध पीया है

गांव के लोग कर रहे थे माओवादियों का विरोध
गांव के युवाओं ने माओवादी गतिविधियों का विरोध किया था और इसके लिए स्थानीय तौर पर सिक्योरिटी ग्रुप भी बना रखा था। पुलिस के मुताबिक, सुंदर और अन्य ने गांव के लोगों को माओवादियों का विरोध न करने के लिए कहा था।

इस मामले में नंदिनी ने कहा कि उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज किया जाना पूरी तरह गलत है। उन्होंने कहा कि मई के बाद से वह उस इलाके में ही नहीं गईं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
DU professor Nandini Sundar and 10 others booked in connection with murder of a tribal in chhattisgarh.
Please Wait while comments are loading...