मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने समान नागरिक संहिता का किया विरोध

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने समान नागरिक संहिता का विरोध किया है। उनकी ओर से कहा गया कि यूनिफॉर्म सिविल कोड देश के लिए अच्छा नहीं है।

Muslim Personal Law Board

'समान नागरिक संहिता देश के लिए अच्छा नहीं'

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने समान नागरिक संहिता का विरोध करते हुए कहा कि देश में कई संस्कृतियां हैं। जिनका सम्मान होना चाहिए।

दिवाली से पहले सैनिकों को बड़ा तोहफा देने की तैयारी में मोदी सरकार

लॉ बोर्ड ने कहा कि अमेरिका में हर कोई अपनी पहचान के अनुसार ही अपने-अपने कानून का अनुसरण करता है। इस मामले हमारा राष्ट्र इसका अनुसरण क्यों नहीं करता है?

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने रखा अपना पक्ष

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की ओर से कहा गया कि हमें संविधान के आधार पर कुछ शक्तियां दी हैं। संविधान ने ही हमें अपना धर्म मानने और उसके मुताबिक उनका पालन करने का अधिकार दिया है।

पैरा-साइकलिस्ट आदित्य मेहता से एयरपोर्ट पर बदसलूकी, कृत्रिम पैर जबरन उतरवा के कराई गई जांच

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की ओर से कहा गया कि मुसलमानों ने भी भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में बराबर हिस्सा लिया, लेकिन उनकी भागीदारी को हमेशा कम करके आंका जाता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Muslim Personal Law Board says Uniform Civil Code is not good for this nation.
Please Wait while comments are loading...