करेंसी बैन को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर जमकर बरसे शत्रुघ्न सिन्हा, कहा होमवर्क नहीं किया

डिमोनेटाइजेशन को लेकर भाजपा सांसद ने की अपनी सरकार की आलोचना। कहा, देश में अफरातफरी मची हुई है और लोग कष्ट झेल रहे हैं।

Subscribe to Oneindia Hindi

दिल्ली। देश में डिमोनेटाइजेशन को लागू करने में जितनी परेशानियां जनता को उठानी पड़ी हैं, उसको लेकर भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने अपनी सरकार की तीखी आलोचना की है। उन्होंने कहा कि इसके लिए होमवर्क नहीं किया गया

Read Also: पीएम मोदी की हत्या की साजिश की बात कॉलर ने कही, पुलिस सतर्क

shatrughan sinha on note ban

खुलकर की सरकार की आलोचना

शत्रुघ्न सिन्हा डिमोनेटाइनजेशन के मुद्दे पर सामने आकर आलोचना करने वाले पहले भाजपा सांसद है। हालांकि उन्होंने काला धन के खिलाफ लिए गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस फैसले को बोल्ड बताया लेकिन इसको लागू करने के तरीकों पर तंज कसे।

'पोस्ट सर्जिकल प्लान पहले बनाना चाहिए था'

डिमोनेटाइजेशन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सलाह देने वाले लोगों पर शत्रु ने निशाना साधा। उन्होंने कहा, 'सर्जिकल स्ट्राइक से पहले पोस्ट सर्जिकल प्लान बनाना चाहिए था। इस फैसले का मकसद तो अच्छा है लेकिन हमारी जिस टीम ने पीएम को सलाह दी, उसने होमवर्क नहीं किया। इन लोगों को एक्सपोज करना चाहिए। हमलोगों के बीच के कुछ लोगों ने बेहद गंभीर लापरवाही की है।'

'लोग कष्ट झेल रहे हैं, देश में अफरातफरी का माहौल है'

सिन्हा ने कहा कि डिमोनेटाइजेशन का एक्जेक्यूशन गलत तरीके से हुआ है। लोग दुख और परेशानी झेल रहे हैं। हर तरफ अफरातफरी है। यहां तक कि हिंसा की भी घटनाएं हुईं। आखिर लाइन में जो लगे हैं, वो हमारे वोटर्स हैं, वे गरीब हैं या मध्यम वर्ग से हैं।

'उपाय नहीं किए गए तो वोटर्स को समझाना मुश्किल होगा'

सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहा कि अगर खराब परिस्थिति को सुधारने के लिए तुरंत उपाय नहीं किए गए तो हमारे पार्टी प्रतिनिधियों के लिए वोटर्स को समझाना बहुत मुश्किल हो जाएगा। ऐसे हालात में इस डिमोनेटाइजेशन के फैसले का असर उत्तर प्रदेश चुनाव में पार्टी की तकदीर पर पड़ेगा।

शत्रुघ्न सिन्हा ने ऐसे समय में अपना बयान दिया है जब भाजपा ने अपने सांसदों से लोगों के बीच जाकर उनको डिमोनेटाइजेशन के फायदे के बारे में समझाने को कहा है।

'बड़े नेताओं को भी शामिल किया जाए'

सिन्हा ने कहा कि यही समय है जब पार्टी के हित में काम करने वाले नेताओं, जैसे अरुण शौरी, सांसद सुब्रह्मणयम स्वामी, यशवंत सिन्हा, मुरली मनोहर जोशी और लाल कृष्ण आडवाणी को इस समस्या के समाधान निकालने में शामिल किया जाना चाहिए।

क्या पार्टी लाइन के खिलाफ बोले शत्रुघ्न?

उनसे जब यह पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'किसी भी पार्टी वो तोता होते हैं जो पार्टी लाइन के नाम पर वही बोलते हैं जो उनसे कहा जाता है। मैं खरा बोलने वाला आदमी हूं।'

Read Also: नोट बैन पर पीएम नरेंद्र मोदी के मंत्री ने भी की जनता को विशेष सुविधाएं देने की मांग

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
BJP MP Shatrughan Singh has criticised Narendra Modi govt for bad execution of demonetisation move.
Please Wait while comments are loading...