दादरी, मंदसौर, ऊना आदि सभी घटनाओं पर बोले पीएम मोदी, कथित गौरक्षकों को दुकान बंद करने को किया आगाह

Subscribe to Oneindia Hindi

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम कॉम्प्लैक्स में हुए टाउनहॉल इवेंट में लोगों को संबोधित करते हुए अपनी उपलब्धियां गिनाईं। इनमें मोदी ने किसानों की बेहतरी के लिए शुरू की गईं ई-मंडियों की बात की और साथ ही व्यापार को आसान बनाने के लिए लाइसेंस व्यवस्था खत्म करने जैसे कामों को बताया। उन्होंने यह भी कहा कि अगर हम अगले तीस साल तक 8 प्रतिशत की विकास दर रख पाए तो भारत को शीर्ष पर पहुंचने से कोई नहीं रोक सकता है।

modi

मोदी बोले कि अरबों, खरबों रुपयों से बने अस्पताल सुशासन के बिना बेकार हो जाते हैं। इसे सुधारने के लिए इसके लिए जिम्मेदार व्यक्ति को उसकी जिम्मेदारी का अहसास होना जरूरी है। अगर सुशासन पर बल नहीं देंगे तो लोगों की जिंदगी नहीं बदलेगी। जनता सरकार की बात सुने इसकी पूरी व्यवस्था होनी चाहिए। वे बोले कि तय समय में शिकायतों का निपटारा हो जाना चाहिए। काम समय से पूरा न करने वाले की जिम्मेदारी सुनिश्चित की जानी चाहिए।

इस ऐप को डाउनलोड कर सीधे पीएम मोदी से जुड़ जाएंगे आप

इस कार्यक्रम में देश भर से 2 हाजर लोग बुलाए गए हैं जो कारोबार, शिक्षा, तकनीक आदि से जुड़े लोग हैं। ये लोग mygov पर सक्रिय रहते हैं। वे बोले कि वोट देकर सरकार चुनने भर से देश का विकास नहीं होता है। देश के विकास में हर नागरिक को अपना योगदान देना होगा। स्वच्छ भारत अभियान को पीएम मोदी ने भागीदारी का सबसे अच्छा उदाहरण बताया।

एनएसजी पर खुद मदद न करने वाला चीन, दक्षिण चीन सागर के मसले पर मांगने आ रहा मदद

पीएम मोदी ने देश के विकास की बात करते हुए कहा कि आज देश तेज गति से आर्थिक विकास की ओर आगे बढ़ रहा है, जिसकके लिए मैं देश वासियों का धन्यवाद करता हूं। जैसे परिवार का बजट बनाया जाता है वैसे ही देश का होता है। अधिक पैसे होते हैं तो अधिक काम होता है और अधिक रोजगार पैदा होगा। इस तरह लोगों की जेब में पैसा आएगा तो वह खर्च करेगा, जिससे अर्थव्यवस्था आगे बढ़ेगी।

अभी चुनाव होते हैं तो बीजेपी को गुजरात में मिलेंगी 60-65 सीटें: RSS सर्वे

मोदी ने पर्यटन को भी बढ़ावा देने की बात कही, जिससे बाहर से लोग देश में आएं और इससे अर्थव्यवस्था आगे बढ़ेगी। उन्होंने ताजमहल का उदाहरण भी दिया। मोदी ने प्रिवेंटिव हेल्थकेयर की बात भी कही। वे बोले कि सिर्फ स्वच्छ पीने का पानी पिएं और अच्छा खाएं, ताकि बीमारियां न हों। इसे मोदी ने स्वच्छता अभियान से जोड़ते हुए कहा कि यह अभियान बीमारी के खिलाफ लड़ने की पहल है। इसका सबसे अधिक फायदा गरीब परिवारों को होगा, ताकि लोग कम से कम बीमारी हों।

दादरी, मंदसौर, ऊना आ​दि घटनाओं के पीछे जिम्मेदार तत्वों पर पीएम मोदी ने जमकर निशाना साधा। अपने पहले टाउन हॉल कार्यक्रम में उन्होंने कथित गौ-रक्षकों को भी कड़ा संदेश दिया है। ऐसे लोगों पर गरजते हुए पीएम मोदी ने उन्हें आगाह किया है। मोदी ने कहा कि रात में गोरखधंधा करने वाले लोग दिन में गौ रक्षक का चोला पहनकर निकलते हैं। गौ-रक्षा के नाम पर दुकान चलाने वालों पर गुस्सा आता है। उन्होंने कहा कि अगर आप गाय के सच्चे हितैषी हैं ही तो उससे ऐसे प्यार करो कि उसका जीवन बचे और वह प्लास्टिक न खाए।

'डोजियर निकालें राज्य'

पीएम मोदी ने फर्जी गौ-रक्षकों और असामाजिक काम करने वालों की पहचान करने के लिए राज्य सरकारों से आग्रह किया कि जो स्वयंसेवी खुद को बड़ा गौ-रक्षक मानते हैं, उनका डोजियर तैयार करो। पीएम ने कहा कि 70 से 80 फीसदी ऐसे निकलेंगे जो ऐसे गोरखधंधे करते हैं जो कि समाज स्वीकार नहीं करता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
prime minister narendra modi given answer to the questions of mygov users in townhall event in indira gandhi stadium complex at new delhi.
Please Wait while comments are loading...