यूपी के मिर्जापुर में गंगा में बहते मिले 1000 रुपए के फटे नोट

Subscribe to Oneindia Hindi

मिर्जापुर। भारत में काले धन पर लगाम लगाने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी की 'सर्जिकल स्ट्राइक' का असर समूचे देश में देखने को मिल रहा है। कई खबरें ऐसी भी सामने आईं जिनमें कालाधन रखने वाले 500-1000 के पुराने नोटों को फेंक रहे हैं या जला रहे हैं।

गंगा स्नान करने गए लोगों ने इन नोटों को इकट्ठा किया और इन्हें देखने के लिए लोगों की भीड़ लग गई। आपको बता दें कि पीएम मोदी ने 8 नवंबद को रात 12 बजे से 500 और 1000 के पुराने नोटों की कीमत को खत्म करने की घोषणा की थी।

पढ़ें - सरकार अब जारी करेगी 1000 रुपए का भी नया नोट, देखिए और जा‍निए क्‍या होगा खास

ऐसी ही एक खबर मिर्जापुर से है जहां 1000 रुपए के पुराने फटे नोट गंगा नदी में बहते पाए गए। जब गंगा स्नान के लिए स्थानीय लोग पहुंचे तो उन्होंने फटे नोट देखकर इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुट गई है।

गंगा स्नान करने गए लोगों ने इन नोटों को इकट्ठा किया और इन्हें देखने के लिए लोगों की भीड़ लग गई। आपको बता दें कि पीएम मोदी ने 8 नवंबर को रात 12 बजे से 500 और 1000 के पुराने नोटों की कीमत को खत्म करने की घोषणा की थी।

पढ़ें : 500, 1000 नोट बंदी: फेसबुक पर वायरल हुई इस कैब ड्राइवर की कहानी, पीएम मोदी ने किया री-ट्वीट

इस फैसले के बाद से ही कालाधन रखने वाले बौखलाए हुए थे। पुलिस को ऐसा शक है कि मिर्जापुर और भदोही बेल्ट में कुछ लोगों के पास काफी कालाधन है। इसी को ठिकाने लगाने के मकसद से इन 1000 के पुराने नोटों को फाड़कर गंगा में अर्पित कर दिया गया।

नोट बर्बादी की हाल ही में हुईं ये थीं 2 घटनाएं :

1. बरेली में नोटों के ढेर को लगाई आग

इससे पहले बरेली के सीबीगंज इलाके में भी नोटों के जलते हुए ढेर को रास्ते से जा रहे एक आदमी ने देखा तो इसकी सूचना पुलिस को दी।

इस मामले के बाद हड़कंप मच गया था। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो देखा कि 500 और 1000 के नोटों की कतरनों में आग लगी है। उन कतरनों को कब्जे में लेकर पुलिस और आरबीआई की टीम नोटों की जांच में लगी हैं।

इससे पहले बरेली के सीबीगंज इलाके में भी नोटों के जलते हुए ढेर को रास्ते से जा रहे एक आदमी ने देखा तो इसकी सूचना पुलिस को दी।

पढ़ें- 500-1000 नोट बंदी पर इस क्रिकेटर ने किया कमेंट तो पीएम मोदी ने कुछ ऐसे की तारीफ

इस घटना के बारे सीबीगंज में लोग कई तरह की बातें कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि इलाके की एक कंपनी के कुछ कर्मचारी नोटों की कतरनों को बोरियों में भरकर यहां ले आए थे।

उन्होंने कतरनों में आग लगाई और वहां से चले गए। नोटों का यह जलता ढेर परसाखेड़ा इंडस्ट्रियल एरिया में एक बड़े उद्योगपति की फैक्ट्री के सामने मिला है।

पढ़ें- 500-1000 के नोट बंद होने के बाद गुरुग्राम टोल पर बेहिसाब जाम, अथॉरिटीज ने लिया अहम फैसला

2. महाराष्ट्र में कूड़े के ढेर में मिले 500-1000 के नोट

महाराष्ट्र के टिटवाला इलाके में भी कूड़े के ढेर के पास एक बोरी में 500-1000 के नोट मिले थे। हालांकि, इस मामले में ये साफ नहीं हो पाया कि ये नोट आखिर वहां कैसे आए या किसने छोड़ा है।

2. महाराष्ट्र में कूड़े के ढेर में मिले 500-1000 के नोट

कूड़ेदान के बगल में रखे नोटों को देखकर लोगों को भीड़ जुट गई थी। जिसे भी पता चला कि कूड़ेदान पर बोरी में नोटों की गड्डी पड़ी लोग देखने के लिए उमड़ पड़े। बोरी में 500-1000 रुपये के नोट थे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mirzapur: 500 and 1000 rupee ban post effect seen; teared notes found in ganga.
Please Wait while comments are loading...