14 साल की लड़की से 6 नाबालिग लड़कों ने किया गैंगरेप, चलती ट्रेन से फेंका

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

पटना। दिल्ली के निर्भया कांड की तर्ज पर ही बिहार के लखीसराय में रेप का एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां 14 साल की एक लड़की से 6 नाबालिगों ने गैंगरेप किया फिर उसे बुरी तरह पीट कर रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया। आरोपियों में से एक पीडि़ता के ही स्‍कूल का था और उसका जूनियर था। इन सबके आलावा इस घटना में जो सबसे शर्मनाक बात थी वो ये कि खून से लथपथ लड़की को जब अस्‍पताल पहुंचाया गया तो वहां 14 घंटे तक उसे इलाज नहीं मिला।

14 साल की लड़की से 6 नाबालिग लड़कों ने किया गैंगरेप, चलती ट्रेन से फेंका

पीड़िता फिलहाल पटना के एक अस्पलात में मौत से जंग लड़ रही है। जानकारी के मुताबिक लखीसराय के चानन थाना क्षेत्र के लाखोचक गांव की है। गुरुवार देर रात ही मैट्रिक की एक छात्रा के साथ युवक ने दुष्कर्म किया। दुष्कर्म के बाद युवक द्वारा अपने आधा दर्जन साथियों के साथ पीड़िता को वंशीपुर स्टेशन पर पहले तो एक ट्रेन में चढ़ाया गया, फिर गैंगरेप कर किऊल स्टेशन के पास चलती ट्रेन से फेंक दिया गया। शुक्रवार की सुबह यात्रियों द्वारा पीड़िता को घायल अवस्था में देखे जाने के बाद उसे उठाकर प्लेटफार्म पर रखा गया जहां उसे खोजते हुए उसके परिजनों पहुंचे।

हैवानियत की कहानी, पीडि़ता की जुबानी

अंग्रेजी अखबार टाइम्‍स ऑफ इंडिया को पीडि़ता ने बताया कि 'जब मुझे होश आया, मैंने खुद को एक ट्रेन में पाया। जिन दो लड़कों को मैंने पहचाना उन्होंने मुझे ट्रेन से बाहर फेंक दिया और मैं दोबारा बेहोश हो गई।' पीड़िता के भाई ने बताया कि परिवारवालों को सुबह 3 बजे के आसपास उसके लापता होने का एहसास हुआ। भाई के मुताबिक, '12 घंटे बहन को खोजने के बाद हमने उसे किऊल रेलवे स्टेशन पर पाया। लोगों ने उसे रेलवे ट्रैक से प्लेटफॉर्म पर पहुंचा दिया था।'

पीड़िता के भाई के मुताबिक, पहले उसे स्थानीय अस्पताल ले जाया गया, जहां खून बहने से रोकने के लिए उसे 24 टांके लगाए गए। शनिवार शाम को जब पीड़िता की सेहत और बिगड़ने लगी तब उसे पटना मेडिकल कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल के लिए रेफर कर दिया गया, जहां आपातकालीन वॉर्ड में उसे 14 घंटे तक कोई इलाज नहीं मिला। भाई ने आरोप लगाया कि गार्ड ने बेड के बदले पैसे की मांग की। मीडिया में मामला आने के बाद अस्पताल प्रशासन ने भी मामले में कार्रवाई की है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों में से एक को हिरासत में ले लिया गया और बाकी की तलाश जारी है।

क्‍या कहना है सीएम नीतीश कुमार का

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पीड़िता के मामले में खुद संज्ञान लिया है। उन्होंने इसके लिए अधिकारियों को उचित निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि पीड़िता के देखभाल व इलाज में कोई कमी नहीं होनी चाहिए। साथ ही रेपिस्ट को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने को कहा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In a shocking incident, a 14-year-old girl was allegedly gang-raped by six minors and later thrown out from a train at Kiul Railway Station in Bihar on Friday night.
Please Wait while comments are loading...