बॉलीवुड में एंट्री और लग्जरी लाइफ की चाह में क्रिमिनल बन रहे हैं नाबालिग

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। बॉलीवुड फिल्में देखकर युवा पीढ़ी को कुछ बेहतर करने के लिए भले ही न प्रेरित हो रही हो, अपराधी बनने के तरीके जरूर खोज रही है. हाल ही में ऐसी कई वारदातें सामने आई हैं जिनमें अपराधियों ने फिल्मी अंदाज में घटना को अंजाम दिया. कहीं कोई फिल्मी तरकीब से बैंक लूटने निकलता है तो कहीं फिल्मी अंदाज में ट्रेन लुट जाती है. पलक झपकते ही ख्वाहिशें पूरी होने के सपने देखने वाली युवा पीढ़ी बेहद खतरनाक रास्ते पर है.

minor criminals

हाल ही में राजस्थान पुलिस ने कई ऐसे गैंग्स का खुलासा किया है जिनमें 18 से 19 साल के युवक शामिल हैं। पुलिस ने उन युवकों से पूछताछ की तो उनके जवाब हैरान कर देने वाले थे। कई ने बताया कि वे इसलिए चोरी करते हैं ताकि बॉलीवुड में एंट्री पाने के लिए पैसे जमा कर पाएं, तो कुछ ऐसे भी थे जिन्होंने शानो-शौकत और आराम की जिंदगी जीने की चाह में चोरी और लूट शुरू कर दी।

पढ़ें: तेवतिया पर हमले का क्या है महिला कांस्टेबल से कनेक्शन?

बीते सप्ताह पुलिस ने दो युवकों को एटीए लूटने का प्रयास करने के आरोप में गिरफ्तार कर किया। पूछताछ के दौरान उन्होंने जो जवाब दिए उनसे पुलिस वाले भी सन्न रह गए। पुलिस ने बताया, 'दोनों गरीब परिवार से हैं और वे चोरी करके पैसे इकट्ठा करना चाहते थे ताकि वे बॉलीवुड फिल्मों के लिए ऑडिशन दे सकें और मुंबई में सेलिब्रिटी लाइफस्टाइल में रह सकें।'

फिल्में देखकर बन रहे हैं अपराधी
एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया अब युवा अपराधियों के ऐसे गैंग सामने आ रहे हैं जो अपनी जरूरतें पूरी करने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। उन्होंने कहा, 'ये अपराधी फिल्मों से प्रभावित होते हैं और टीवी देखकर वैसी ही लाइफ स्टाइल पाने की चाह रखते हैं। ये महंगे कपड़े और गैजेट खरीदने की चाह में भी वारदातों को अंजाम देते हैं।'

criminals for bollywood dreams

निशाने पर होती हैं एटीएम मशीनें
इन अपराधियों के तरीकों का जिक्र करते हुए एक अधिकारी ने कहा कि ये लोग एक साथ ज्यादा पैसे पाने की चाहत में एटीएम मशीनों को निशाना बनाते हैं। इनमें से कई के पास एटीएम कार्ड भी नहीं होते और न ही वो यह जानते कि मशीन चलती कैसे हैं। पैसे पाने के लिए ये लोग एटीएम के विड्रॉल बॉक्स को तोड़ने की कोशिश करते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि वहां से अपने आप पैसे बाहर आने लगेंगे।

पढ़ें: UP पुलिस सिर्फ जिंदाबाद क्यों नहीं रहती, मुर्दाबाद शौक है या मजबूरी?

एटीएम नहीं लूट पाए तो गार्ड को मार डाला
9 जून को सीकर पुलिस ने एटीएम लूटने की कोशिश के आरोप में चार लड़कों को गिरफ्तार किया, जिनमें से एक 12वीं का छात्र भी था। उन्होंने विड्रॉल बॉक्स तोड़कर पैसे निकालने की कोशिश की लेकिन जब नाकाम रहे तो उन्होंने एटीएम गार्ड की हत्या कर दी। जब पुलिस ने इस मामले में चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया तो उन्होंने बताया कि वे महंगे गैजेट और अन्य लग्जरी प्रोडक्ट खरीदना चाहते थे। इसलिए वारदात को अंजाम देने निकले थे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
minors are being criminal for bollywood dreams, luxurious lifestyle in cities like Delhi or Mumbai and to buy expensive clothes.
Please Wait while comments are loading...