कोई और नहीं, ये शख्स देगा 2019 में पीएम मोदी को चुनौती!

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। अगले 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जीत को लगभग तय माना जा रहा है, जिस तरह से नीतीश कुमार ने भी एनडीए का दामन थाम लिया है, उसके बाद विपक्ष की चुनौती लगभग खत्म सी दिखाई दे रही है। लेकिन नोएडा के इस व्यक्ति का दावा है कि वह पीएम मोदी के लिए बड़ी चुनौती खड़ी कर सकता है, वह खुद को पीएम के खिलाफ मजबूत उम्मीदवार मानता है, टाइम्स इंडिया की खबर के मुताबिक यह सख्श पहले भी चुनाव में अपना हाथ आजमा चुका है। 

 नोएडा में चलाता है कोचिंग

नोएडा में चलाता है कोचिंग

नोएडा के 36 वर्षीय विनोद पवार का कहना है कि कुछ ज्योतिषियों ने इस बात की पुष्टि की है कि मैं पीएम पद का प्रबल दावेदार हूं। लेकिन यहां खास बात यह है कि विनोद पवार ने इस बात को गंभीरत से ले लिया है। उन्होंने अपने कई पोस्टर रेलवे स्टेशन, से लेकर अन्य जगहों पर लगाए हैं, जिसमें उन्होंने खुद को पीएम मोदी के खिलाफ दावेदार के रूप में दिखाया है। आपको बता दें कि पवार नोएडा सेक्टर 50 में कोचिंग चलाते हैं और वह केमिस्ट्री से ग्रैजुएट हैं।

देश को समृद्ध बनाने का दावा (सौजन्य TOI)

देश को समृद्ध बनाने का दावा (सौजन्य TOI)

पवार का कहना है कि देश गंभीर आर्थिक मंदी के दौर से गुजार रहा है, मजदूरों को काम नहीं मिल रहा है, उन्हें उनकी न्यूनतम मजदूरी नहीं मिल रही है, सीमा पर तनाव है, देश में कई ऐसे मुद्दे हैं जिसपर बात होनी चाहिए, लिहाजा मैं प्रधानमंत्री बनना चाहता हूं और देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करके इसे समृद्ध बनाना चाहता हूं।

पहले भी उतरे थे चुनावी मैदान में

पहले भी उतरे थे चुनावी मैदान में

आपको बता दें कि यह पहला मौका नहीं है जब पवार राजनीति में अपना हाथ आजमा रहे हैं, इससे पहले जनवरी 2017 में भी उन्होंने नोएडा से विधायक के लिए अपना आवेदन किया था, उन्होंने खुद को रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन का अपना दोस्त बताया था। हालांकि उनका नामांकन पूरी जानकारी मुहैया नहीं कराए जाने की वजह से रद्द कर दिया गया था।

दुनियाभर के नेताओं को बताया प्रस्तावक

दुनियाभर के नेताओं को बताया प्रस्तावक

पवार ना सिर्फ पुतिन को अपना दोस्त बताते हैं बल्कि उन्होंने महात्मा गाधी, स्वामी विवेकानंद, मार्टिन लूथर किंग, बीआर अंबेडकर, अब्दुल कलाम, नेल्सन मंडेला, सुभाष चंद्र बोस, गौतम बुद्ध, अब्राहम लिंकनन को अपना प्रस्तावक बताया था। आपको बता दें कि नियम के अनुसार चुनाव के मैदान में उतरने के लिए आपको अपने संसदीय क्षेत्र के 10 लोगों के हस्ताक्षर की जरूरत होती है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Meet the man who claims to be a big challenge to PM Modi in 2019. He is sure of becoming PM of India.
Please Wait while comments are loading...