500-1000 के नोटबंदी पर मायावती का मोदी पर हमला कहा, यह 'आर्थिक आपातकाल' है

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा 500-1000 के नोट बंद करने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा है। मायावती ने कहा कि यूपी चुनाव से पहले आर्थिक आपातकाल लगा दिया गया है। उन्‍होंने कहा कि मोदी की नियत साफ नहीं है। मायावती ने कहा कि यह नोट बंदी का फैसला देश हित में नहीं है। मोदी के इस फैसले से गरीब,किसान और मजदूर परेशान हैं।
VIDEO: महिलाएं कृपया ध्यान दें, आप सभी खूबसूरत हैं, चलती ट्रेन में मेकअप ना करें 

BSP chief Mayawati

प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर मायावती ने कहा कि पीएम मोदी ने यह सबकुछ सिर्फ और सिर्फ पूंजीपतियों को फायदा पहुंचाने के लिए किया है। पूंजीपति अपना इंतजाम पहले ही कर चुके हैं। मायावती ने मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कई सवाल पूछे। उन्‍होंने कहा कि सरकार काले धन पर ढाई साल तक चुप क्यों रही। सरकार विदेशों से कालाधन वापस क्यों नहीं लाई?
मायावती ने कहा- सपा-बीजेपी में है मिलीभगत, प्रदेश में गुंडों का राज

पेट्रोल पंप वालों से मोदी की सांठगांठ

मायावती ने कहा कि मोदी के इस फैसले से कालाबाजारी बढ़ गई है। उदाहरण के तौर पर देख लीजिए कि इस फैसले के तुरंत बाद कुछ देर के लिये पेट्रोल पम्पों पर लूट मच गई। मायावती ने कहा कि भाजपा ने उनसे साठगांठ की है कि जितना कमाना है कमा लो, कुछ हिस्सा हमको दे देना।  
28 साल का युवा यूपी में मायावती के लिए बदले मुस्लिम वोटों का समीकरण 

चुनाव में जनता सिखाएगी सबक 

मायावती ने कहा कि आम आदमी मोदी सरकार की घोर लापरवाही से त्रस्त है। कानून का पक्षपात पूर्ण इस्तेमाल हो रहा है। मायावती ने कांग्रेस को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि कांग्रेस और बीजेपी का चाल चरित्र चेहरा एक है। चुनाव में जनता उन्हें सबक सिखाएगी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Hitting out at Prime Minister Narendra Modi for the demonetisation scheme, BSP chief Mayawati on Thursday said that the move was a case of undeclared economic emergency in the country.
Please Wait while comments are loading...