पत्नी के शव और नवजात के साथ शख्स को बीच जंगल में बस से उतारा

Subscribe to Oneindia Hindi

दमोह जहां एक ओर ओडिशा से पत्नी का शव कंधे पर ले जाने और शव की हड्डियां तोड़कर पोटली बनाकर ले जाने की इंसानियत को शर्मसार करने वाली खबरें आ रही हैं, उसी बीच मध्य प्रदेश में भी इसांनियत को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आ रही है।

forest

मध्य प्रदेश के दमोह जिले में एक व्यक्ति को उसकी पत्नी के शव और 5 दिन की बेटी के साथ बस से उतार दिया गया। यहां और अधिक शर्मसार करने वाली बात यह है कि उसे बीच जंगल में उतारा गया।

ओडिशा में मानवता फिर शर्मसार, लाश की हड्डियां तोड़ पोटली बनाकर ले गए

गुजर रहे वकीलों ने की मदद

व्यक्ति अपनी बीमार पत्नी को अपनी 5 दिन की बेटी के साथ लेकर इलाज के लिए अस्पताल जा रहा था, लेकिन रास्ते में ही उसकी पत्नी की मौत हो गई। इसके बाद उसे बीच जंगल में ही पत्नी के शव के साथ जबरदस्ती उतार दिया गया। इस शख्स का नाम राम सिंह बताया जा रहा है।

कुछ देर बाद उसी रास्ते से दो वकील मृत्युंजय हजारी और राजेश पटेल गुजर रहे थे। उन्होंने देखा कि राम सिंह अपनी 5 साल की बेटी को जंगल के बीच में बारिश के बीच दूध पिलाने की कोशिश कर रहा है। वहीं पास में उसकी पत्नी का शव भी पड़ा हुआ था और साथ में एक बुजुर्ग महिला थी।

पत्नी का शव कंधे पर लेकर 10 किलोमीटर पैदल चलता रहा शख्स

पुलिसवालों ने भी नहीं की मदद

दोनों वकीलों ने जब ये देखा तो पुलिस को इसकी सूचना दी। वकीलों का आरोप है कि पुलिसवाले सूचना पाकर आए तो, लेकिन सिर्फ जानकारी इकट्ठा करके चले गए। पुलिस वे उस शख्स की कोई मदद नहीं की। वकील राजेश पटेल का कहना है कि उन्होंने इसके बाद एक प्राइवेट एंबुलेंस बुलाई और फिर राम सिंह की पत्नी के शव को उनके घर पहुंचाया।

राम सिंह की मां का कहना है कि जब से उनकी बहू ने बच्ची को जन्म दिया था तभी से वह बीमार थी, जिसके इलाज के लिए वे अस्पताल जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। इसके बाद बस वालों ने दमोह से करीब 20 किलोमीटर दूर जांगल में ही उतार दिया।

ओड़िशा: पत्नी का शव को कंधे पर ले जाने के मामले में जांच के आदेश

ड्राइवर-कंडक्टर हिरासत में

जब इस मामले पर बस कंडक्टर से बात की गई तो उसने कहा कि बस के यात्रियों को शव के साथ यात्रा करने में दिक्कत हो रही थी, इसलिए उनकी जिद पर ही राम सिंह को उसकी पत्नी के शव, उसकी मां और 5 साल की बच्ची के साथ बस से उतार दिया गया।

जब इस बारे में बैतियागढ़ पुलिस स्टेशन के पीडी मिंज से बात की गई तो वे बोले कि ऐसी किसी भी घटना की उन्हें जानकारी नहीं है। वहीं, जब मीडिया ने ये मामला उठाया तो प्रशासन हरकत में आया। पुलिस ने फिलहाल बस को जब्त कर लिया है और बस के ड्राइवर और कंडक्टर ऐसा करने के लिए गिरफ्तार कर लिया गया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
man forced to exit bus with his 5 days kid and dead body of his wife between forest while it was raining also.
Please Wait while comments are loading...