बीफ के बारे में व्हाट्सए पर विवादित मैसेज किया साझा, पुलिस हिरासत में मौत

Subscribe to Oneindia Hindi

जमतारा। व्हाट्एसप पर कथित बीफ के बारे में आपत्तिजनक मैसेज साझा करने वाले व्यक्ति की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई है। परिवार के सदस्यों का आरोप है कि उसकी पीट-पीटकर हत्या की गई है।

beef

मोहब्बत या पागलपन: पत्नी के सड़ चुके शव के साथ रह रहा था 90 साल का बुजुर्ग


झारखंड के जमतारा में रहने वाले महज 22 साल के मिन्हाज अंसारी ने कथित रूप से व्हाट्सएप पर विवादित मैसेज साझा किया था। जिसकी कुछ बाद राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में रविवार को मौत हो गई।

अधेड़ उम्र के यात्री ने फ्लाइट में कपड़े उतार महिला क्रू से की बदसलूकी

पुलिस हिरासत में टॉर्चर का आरोप
अंसारी के परिवार का कहना है कि पुलिस की हिरासत में अंसारी को बुरी तरह से टॉर्चर किया गया था और उसके साथ मारपीट की गई थी। वहीं पुलिस अधिकारी का कहना है कि अंसारी इंसेफिलाइटिस की बीमारी से जूझ रहा था।

आरोपी पुलिस अधिकारी सस्पेंड

हालांकि पुलिस के अधिकारियों ने माना है कि जब अंसारी को भर्ती कराया गया ता नारायणपुरा पुलिस स्टेशन में कुछ चूक हुई है। इस थाने पर हरीश पाठक थानाध्यक्ष हैं। उनके खिलाफ हत्या के आरोप में एफआईआर दर्ज कर दी गई है और उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है।

सेक्स वर्कर को पैसा देने से ग्राहक का इनकार रेप नहीं: सुप्रीम कोर्ट

पुलिस के अनुसार व्हाट्सएप मैसेज में बीफ के बारे नारायणपुरा के डिघारी गांव में 2 अक्टूबर से आपत्तिजनक मैसेज साझा किए जा रहे थे। इस मैसेज के आरोप में कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया गया था, वहीं अंसारी को 3 अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था।

दो दिन बाद ही अंसारी के पिता उमर शेख और पूरे परिवार को इस बात की जानकारी मिली की अंसारी को धनबाद में पुलिस की चोट के बाद भर्ती कराया गया है।

पाकिस्तान है विश्व शांति के लिए सबसे बड़ा खतरा: यूएन में भारत

पुलिस का आरोप लोगों ने पुलिस से की झड़प
डेप्युटी कमिश्नर रमेश पाठक का कहना है कि अंसारी के घरवाले ग्रामीणो के साथ पुलिस स्टेशन गए थे वहां उनकी पुलिस से झड़प भी हुई थी। अंसारी के परिवार ने थानाध्यक्ष हरीश पाठक के खिलाफ मामला दर्ज कराया है, जिसके बाद पाठक को सस्पेंड कर दिया गया है। अंसारी की मौत के बाद आरोप हत्या के प्रयास की जगह हत्या का दर्ज करा दिया गया है।

इंसेफिलाइटिस से जूझ रहा था अंसारी

मेडिकल रिपोर्ट में यह कहा गया है कि अंसारी को इंसेफिलाइटिस है, लेकिन पुलिस अधिकारी ने इस बात पर ध्यान नहीं दिया। जमतारा के एसपी मनोज कुमार सिंह ने किसी भी तरह के आरोपों से इनकार किया है। 

मनोज कुमार ने कहा कि हमने व्हाट्सएप पर चल रहे मैसेज की वजह से अंसारी को गिरफ्तार किया था। इस मैसेज से इलाके का माहौल खराब हो सकता था। लेकिन अब स्थिति शांतिपूर्ण है और हम कोशिश कर रहे हैं कि यह स्थिति बनी रहे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
22 year old man was allegedly died after he shared controversial message on whatsapp in Jharkhand.
Please Wait while comments are loading...