महिला टूरिस्ट के स्कर्ट पर दिये बयान पर महेश शर्मा ने दी सफाई

Subscribe to Oneindia Hindi

लखनऊ। विदेशी पर्यटकों पर दिये अपने विवादित बयान को लेकर हर तरफ आलोचना झेल रहे केंद्रीय पर्यटन मंत्री महेश शर्मा ने अपनी सफाई दी है। महेश शर्मा ने कहा कि लोगों की पोशाक पर फैसला लेने का हमारा कोई मकसद नहीं है।महेश शर्मा ने कहा कि मेरे कहने का अर्थ था कि भारत सांस्कृतिक देश है और जब महिलायें यहां आये तो यहां के ड्रेस कोड का खयाल रखें।

'स्कर्ट' से पहले भी कई विवादित बयान दे चुके हैं मंत्री महेश शर्मा

Mahesh Sharma clarifies his statement on women tourist and her skirt remark

उन्होंने कहा कि लोगों के कपड़े, धर्म और रिवाज पर हम कोई भी फैसला नहीं ले सकते हैं। पर्यटन मंत्री ने कहा कि जब पर्यटक एयरपोर्ट पर पहुंचेंगे तो उन्हें एक मैन्युअल दिया जाएगा जिसमें क्या करें और क्या नहीं करें यह लिखा होगा। उन्होंने कहा कि हमारा मकसद महिलाओं की सुरक्षा को पुख्ता करना है।

आपको बता दें कि इससे पहले महेश शर्मा ने अपने बयान में कहा था कि महिला पर्यटकों को यह खयाल रखना चाहिए जब वह घूमने आये तो रात में नहीं निकलें और स्कर्ट पहनकर ना जाए। उन्होंने कहा कि जब महिला पर्यटक ऑटों में जाये तो उसके नंबर की फोटों ले और उसे अपनी साथी को भेंजे।

महेश शर्मा के बयान पर भड़कींं लड़कियां, कहा कपड़ों की वजह से नहीं होते गंदे काम

शर्मा ने कहा ऐसा करने से ऑटो चालक को इस बात की जानकारी होगी कि उसके ऑटो का नंबर महिला के पास है और अगर वह उसके कैमरे को तोड़ने की कोशिश करेगा तो भी यह नंबर कहीं और भी पहुंच चुका होगा। ऐसे में महिला की मित्र उसकी मदद के लिए संकट के समय आये आ सकेगी।

 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mahesh Sharma clarifies his statement on women tourist and her skirt remark. He says he mean not to decide the dress code of the women.
Please Wait while comments are loading...