सगी बेटी ने किया शर्मसार करने वाला काम, CCTV से खुला राज

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

चेन्नई। क्या कोई सगी बेटी, वो भी एक डॉक्टर अपने बीमार पिता की जान लेने की कोशिश कर सकती है? वो भी महज किसी लालच के लिए...यकीन तो नहीं होता लेकिन चेन्नई की यह घटना वाकई शर्मसार करने वाली है।

crime

चेन्नई पुलिस ने एक महिला डॉक्टर पर अपने 82 वर्षीय हृदय रोगी पिता को जाने से मारने की कोशिश का केस दर्ज किया है। महिला के पिता आईसीयू में थे और जीवन रक्षक दवाओं के सहारे जीवित थे।

महिला और परिवार पर हत्या की कोशिश का केस दर्ज

महिला ने एक पेपर पर अपने पिता के अंगूठे का निशान लेने के बाद नाक से दवाई लेने वाली उनकी नली को हटा दिया। यह मामला किसी को पता नहीं चल पाता, लेकिन सीसीटीवी कैमरे ने राज खोल दिया।

निर्दयी महिला ने 15 महीने की बेटी को फ्रीजर में रखकर मार डाला!

घटना सितंबर 2015 की है और इसके दो महीने बाद ही महिला के पिता की मौत हो गई, लेकिन सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद पुलिस ने हाल ही में महिला और उसके परिवार पर हत्या की कोशिश का केस दर्ज किया है।

पेपर पर लिया पिता के अंगूठे का निशान

सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक 5 सितंबर 2015 को डॉ. जयासुधा नाम की यह महिला अपने दो बेटों के साथ आदित्य हॉस्पिटल में भर्ती अपने बीमार पिता से मिलने आई। यह हॉस्पिटल महिला के भाई का ही है।

पत्नी पर ज्यादा ध्यान देता था बेटा, महिला ने काट दिया बहू का गला

कमरे से नर्स को बाहर भेजने के बाद महिला के एक बेटे ने अपनी शर्ट से एक पेपर निकाला और अपने दादा के अंगूठे पर स्याही लगाकर उस पेपर पर अंगूठे का निशान ले लिया। इसके बाद महिला ने स्प्रिट के जरिए अपने पिता के अंगूठे से स्याही का निशान हटा दिया ताकि किसी को पता ना चले।

सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हुई घटना

इसके बाद जो कुछ हुआ, उसे जानकर शायद आपकी भी रूह कांप जाए। महिला ने अपने पिता की नाक से उनको दी जाने वाली जीवन रक्षक दवाओं की नली को हटा दिया, जिसके बाद अस्पताल के फर्श पर पिता के शरीर से खून बहने लगा।

कलयुगी बेटे ने हथौड़े से पीट-पीटकर मां-बाप को उतारा मौत के घाट

जैसे ही डॉक्टर और नर्स कमरे में आए, महिला ने उनसे कुछ कहा और अपने बेटों के साथ बाहर भाग गई। हॉस्पिटल का स्टाफ भी उनके पीछे दौड़ा, लेकिन महिला निकल भागी। यह सबकुछ सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गया।

भाई ने दर्ज कराया मुकदमा

महिला के भाई ने इसी साल फरवरी में अपनी बहन, उसके पति और दोनों बेटों पर अपने पिता की हत्या की कोशिश की शिकायत तमिलनाडू राज्य मेडिकल काउंसिल से की। उसने मांग की है कि इन चारों का मेडिकल लाइसेंस रद्द किया जाए। महिला के परिवार का खुद का भी हॉस्पिटल है।

महिला के भाई ने सीसीटीवी फुटेज और पुलिस में दर्ज कराई एफआईआर की कॉपी भी मेडिकल काउंसिल को भेजी है। पुलिस ने पहले इस मामले में परिवार के खिलाफ अवैध कब्जा, वसूली और धमकी देने का केस दर्ज किया था लेकिन अब हत्या की कोशिश की धारा लगाई है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
jayasudha removes the line delivering life saving medicines through a vein in the neck of her father.
Please Wait while comments are loading...