ऋषि कपूर का खुल्लम-खुल्ला खुलासा: राज कपूर का था नर्गिस-वैजयंती माला से अफेयर

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। अपनी जिंदगी पर लिखी गई किताब ' खुल्लम खुल्ला- ऋषि कपूर अनसेन्सर्ड' में अभिनेता ऋषि कपूर ने कई सनसनीखेज खुलासे किए हैं। इस किताब में सिर्फ ऋषि कपूर के बारे में ही नहीं बल्‍कि उनके परिवार के बारे में भी कई चौकाने वाले खुलासे हैं। इस किताब में ऋषि कपूर ने अपने पिता राज कपूर के लव अफेयर्स को लेकर भी खुलासे किए हैं। किताब में लिखा गया है कि राज कपूर का सबसे लंबे समय तक नर्गिस के साथ अफेयर रहा।

ऋषि कपूर का खुल्लम-खुल्ला खुलासा: राज कपूर का था नर्गिस-वैजयंती माला से अफेयर
 

ऋषि कपूर ने अपनी इस किताब में लिखा है कि 'मेरे पिता, राज कपूर, 28 साल के थे और 4 साल पहले ही वह 'शोमैन ऑफ हिंदी सिनेमा' का खिताब पा चुके थे। वह प्‍यार में भी थे और दुर्भाग्‍यवश वह महिला मेरी मां के अलावा एक दूसरी महिला थी। उनकी गर्लफ्रेंड थीं उनकी कई फिल्‍मों की हीरोइन रही नर्गिस। नर्गिस ने राज कपूर के साथ 'आग' (1948), 'बरसात' (1949) और 'आवारा' (1951) में काम कर चुकी थीं।'  

ऋषि कपूर का खुलासा: राज कपूर का था कई एक्‍ट्रेस से अफेयर

वैजयंती माला से भी अफेयर का खुलासा

ऋषि कपूर ने अपनी किताब में वैजयंती माला का भी जिक्र किया है। उन्‍होंने लिखा है कि ''मुझे याद है जब मैं मेरी मां के साथ मरीन ड्राइव के नटराज होटल में रहने गाया था, जिस समय मेरे पिता वैजयंती माला के साथ थे। होटल के बाद हम लगभग 2 महीनों के लिए चित्रकूट के एक अपार्टमेंट में शिफ्ट हो गए थे। मेरे पिता ने वह घर हमारे लिए खरीदा था। मेरे पिता ने मेरी मां को मनाने के लिए हर संभव प्रयास किया लेकिन मेरी मां तब तक नहीं मानीं जब तक उन्‍होंने उस अध्‍याय को पूरी तरह खत्‍म नहीं कर दिया था।''  

राज कपूर का था नर्गिस-वैजयंती माला से अफेयर

अवॉर्ड पाने के लिए दिए थे 30 हजार रुपए

किताब में ऋषि कपूर ने यह भी खुलासा किया है कि उन्होंने एक अवॉर्ड पाने के लिए 30 हजार रूपये दिए थे। उन्‍होंने लिखा है कि उन्होंने फिल्म 'बॉबी' के लिए अवॉर्ड पाने की चाहत में 30 हजार रुपये दिए थे। किताब के विमोचन पर उन्‍होंने कहा कि 'एक शख्स मेरे पास आया और मुझसे बोला कि तुम इतने पैसे दे दो तो मैं तुम्हें अवॉर्ड दिला दूंगा। मैं तैयार हो गया...लेकिन ये एक धोखे का खेल भी हो सकता था। मैं ये नहीं मान रहा कि वो पैसा किसी के हाथ में गया और अवॉर्ड फिक्स हुआ। हमें ये सोचना चाहिए कि वो फिक्स नहीं था लेकिन मैंने पैसे दिए थे और मुझे अवॉर्ड मिला। इसलिए मैं यही सोचता हूं कि मुझे अवॉर्ड मिला क्योंकि मैंने पैसे दिए थे।' ये भी पढ़ें- 'खुल्लम-खुल्ला' खुलासा: दुबई में दाऊद इब्राहिम के साथ ऋषि कपूर ने पी थी चाय

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Veteran actor Rishi Kapoor has opened up about the colourful life of his father, filmmaker Raj Kapoor in his soon-to-be released autobiography, saying he loved his cinema, booze, and his leading ladies.
Please Wait while comments are loading...