पॉलेटेक्निक में पढ़ने वाली लड़कियों ने किया ऐसा काम, जानकर आप भी करेंगे सलाम

केरल के कोट्टाकल में छात्राओं ने लगातार अपनी मेहनत से उस 11 एकड़ जमीन को उपजाऊ बना दिया, जो बरसों से बेकार और बंजर पड़ी थी।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

कोट्टाकल। आज के समय में जब लोग खेतों से दूर होते जा रहे हैं और खेती की जमीनों को आबादी एरिया में तब्दील किया जा रहा है, ऐसे में पॉलेटेक्निक की छात्राओं ने ऐसी मिसाल पेश की है, जिसे जानकर हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है। केरल के कोट्टाकल में छात्राओं ने लगातार अपनी मेहनत से बिना किसी मशीनी मदद के उस 11 एकड़ जमीन को उपजाऊ बना दिया, जो बरसों से बेकार और बंजर पड़ी थी।

कोट्टाकल के गवर्मेंट पॉलेटेक्निक कॉलिज की एनएसएस यूनिट ने कुछ खास करने की सोची तो उन्हें कॉलेज के पास की 11 एकड़ जमीन का ख्याल आया जो पिछले 10 सास से बंजर पड़ी थी। लड़कियों ने बिना किसी बड़ी सुविधा के अपनी मेहनत के दम पर ही इस जमीन से उपज लेने की ठान ली। एक हफ्ते की अपनी छुट्टियों में छात्राओं की दिन-रात मेहनत के बाद इस जमीन में अब सब्जी उगाई जा रही है। जमीन को तैयार करने के बाद उसमें बीज बो दिया गया है। एनएसएस सेक्रेटरी अनुश्री कहती हैं कि जब हमने इस जमीन से उपज लेने की सोची तो ये आसान नहीं था लेकिन मेहनत की तो धीरे-धीरे सब ठीक होता चला गया।

एक महीने के भीतर मिलेगी पहली फसल
अनुश्री का कहना है कि हमारे पास कोई मशीनें नहीं थी लेकिन हमने पसीना बहाया और उसका हमें फल भी मिला। द न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, अब इस 11 एकड़ में बैंगन, खीरा, बीन्स और मिर्च के बीज बो दिए गए हैं। छात्रों की मेहनत को देखकर कृषि विभाग से जुड़े लोगों ने भी उनकी मदद की और बीजआदि उपलब्ध कराए। छात्राओं का कहना है कि ये सब टीम वर्क की बदौलत ही संभव हो सका है। अब भी छात्राओं को पहली फसल का इंतजार है, जिसके एक महीने के भीतर आ जाने की उम्मीद है। जिसे मंडी में बेचा जाएगा
पढ़ें- पाकिस्तान में कर्ज के बदले लड़कियां देने को मजबूर हिंदू, बोले वो जवान लड़कियों को ले जाते हैं

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
11 acres of arid land to turn green by agroup of girls in Kottakkal
Please Wait while comments are loading...