ट्रंप के मुसलमान बैन की आंच भारत तक, कश्‍मीर के एथलीट को नहीं मिला वीजा

अमेरिकी दूतावास ने कश्‍मीर के एथलीट तनवीर हुसैन को नहीं दिया वीजा। न्‍यूयॉर्क में 'स्‍लो-शू रनिंग' प्रतियोगिता के लिए जाना है तनवीर को। दूतावास ने नई नीति की वजह से वीजा देने से मना किया।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने पिछले दिनों मुसलमान आबादी वाले सात देशों पर जो बैन लगाया है, उसकी आंच अब भारत पर भी आ गई है। इसका ताजा उदाहरण है कश्‍मीरी एथलीट को वीजा न मिल पाना। इस एथलीट को अमेरिकी दूतावास ने सारे डॉक्‍यूमेंट्स होने के बावजूद इंटरनेशनल वर्ल्‍ड चैंपियनशिप के लिए वीजा देने से मना कर दिया है। यह चैंपियनशिप न्‍यूयॉर्क में होने वाला है।

no-visa-for-kashmiri-athlete-कश्‍मीरी-एथलीट-नो-वीजा-'मुसलमान-बैन-डोनाल्‍ड-ट्रंप'.jpg

दूतावास ने सवालों का भी जवाब नहीं दिया

दूतावास ने इस एथलीट से कहा कि 'वर्तमान नीति' की वजह से उसके किसी भी सवाल का जवाब भी नहीं दिया जाएगा। कश्‍मीर के इस एथलीट का नाम है तनवीर हुसैन और तनवीर एक 'स्‍लो शू-रनिंग' चैंपियन हैं। तनवीर का चयन 25 फरवरी को न्‍यूयॉर्क में होने वाली वर्ल्‍ड चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्‍व करने के लिए हुआ था। लेकिन दूतावास की वजह से अब उनकी भागीदारी पर सवालिया निशान लग गया है। तनवीर ने न्‍यूज एजेंसी एएनआई को बताया, ' शू-रनिंग की वर्ल्‍ड फे‍डरेशन की ओर भारतीय फेडरेशन को चिट्ठी भेजी गई थी। इसके बाद भारतीय फे‍डरेशन ने उनका चयन चैंपियनशिप के लिए किया था।' तनवीर ने पिछले वर्ष इटली में हुई वर्ल्‍ड चैंपियनशिप में भारत को प्रतिनिधित्‍व किया था। इटली में उनके प्रदर्शन ने सबको प्रभावित किया था। इसके बाद उन्‍हें अमेरिका में होने वाली चैंपियनशिप क‍े लिए चुना गया था।

गुलमर्ग में चैंपियनशिप के लिए कड़ी मेहनत

तनवीर ने बताया कि उन्‍होंने इस चैंपियनशिप के लिए कड़ी मेहनत की है। उनका कैंप गुलमर्ग था और बर्फ में उन्‍होंने बहुत मेहनत से अभ्‍यास किया है। तनवीर ने बताया कि उनके सारे डॉक्‍यूमेंट्स पूरे थे और साथ वर्ल्‍ड फेडरेशन की भेजी गई चिट्ठी भी थी। साथ ही में जहां पर चैंपियनशिप होनी है उस शहर के मेयर की भी चिट्ठी भी दूतावास को ई-मेल कर दी गई है। तनवीर मंगलवार को वीजा के इंटरव्‍यू के लिए दूतावास गए थे और इसके बाद उनके डॉक्‍यूमेंट्स को स्‍क्रीन किया गया। फिर उनसे खेल से जुड़ी उपलब्धियों को दिखाने के लिए कहा गया। इस पर तनवीर ने उन्‍हें कुछ न्‍यूजपेपर्स की कटिंग दिखाई। लेकिन बाद में उन्‍हें बताया गया कि वर्तमान नीतियों के चलते तनवीर को वीजा नहीं दिया जा सकता है। दूतावास ने किसी भी सवाल का जवाब देने से इंकार कर दिया और अगले उम्‍मीदवार को इंटरव्‍यू के लिए बुलाया।

आज शाम तक पता लगेगी असलियत

तनवीर की टीम अमेरिकी वीजा हासिल करने के लिए खासी मशक्‍कत कर रही है। उनके मैनेजर आबिद हुसैन ने वर्ल्‍ड फेडरेशन को ई-मेल भेजा है। फेडरेशन की ओर से उन्‍हें सुनिश्चित किया गया है कि दूतावास को आश्‍वस्‍त करने के लिए पूरी कोशिश की जाएगी। आज शाम को ही पता लग पाएगा कि तनवीर को वीजा मिल सकेगा या नहीं। हुसैन कहते हैं कि वह सिर्फ एक एथलीट हैं और वह इस खेल में भारत का प्रतिनिधित्‍व करना चाहते हैं। उनका कहना है कि कश्‍मीर में कई खिलाड़ी हैं और उन्‍हें कोई भी स्‍पांसर नहीं मिल पाता है। लेकिन उनके पास जेएंडके बैंक जैसा स्‍पांसर है और कश्मीर की सरकार का पूरा समर्थन है। लेकिन इसके बाद भी उन्‍हें वीजा नहीं मिल सका है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Kashmiri athlete denied visa because of US President Donald Trump's Muslim ban.
Please Wait while comments are loading...